BIHAR NEWS: स्वास्थ्य व्यवस्था के मामलों में किरकिरी कराने के बाद चमका इस जिले का स्वास्थ्य केंद्र, ‘कायाकल्प योजना’ में मिली टॉप रैंकिंग

BIHAR NEWS: स्वास्थ्य व्यवस्था के मामलों में किरकिरी कराने के बाद चमका इस जिले का स्वास्थ्य केंद्र, ‘कायाकल्प योजना’ में मिली टॉप रैंकिंग

AURANGABAD: कोरोना काल में बिहार स्वास्थ्य विभाग की खूब किरकिरी हुई है। अस्पतालों में वेंटीलेटर होते हुए भी उसका उपयोग नहीं होना हो या स्वास्थ्य मंत्री का पूरे प्रकरण से गायब रहना हो। या फिर अस्पतालों का मनमाना किराया वसूल ना हो। कई मामलों को लेकर कोरोना काल में बिहार स्वास्थ्य विभाग की धज्जियां उड़ी है। इसी बीच बिहार के औरंगाबाद जिले के रफीगंज का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भारत सरकार के सभी पैमानों पर शत-प्रतिशत खरा उतरा है। यह अपने आप में गर्व करने वाली बात है।

भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शुरू की गई महत्वाकांक्षी ‘कायाकल्प योजना’ में रफीगंज का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शत-प्रतिशत खरा उतरा है। यह योजना सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों में साफ-सफाई और संक्रमण रोकने के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है। यही वजह है कि यह स्वास्थ्य केंद्र राज्य स्तरीय रैंकिंग में बिहार टॉप आया है। साफ-सफाई और स्वच्छता के उच्च मानकों को हासिल कर रैंकिंग में नंबर वन आने के लिए रफीगंज के इस अस्पताल को अब कायाकल्प पुरस्कार से नवाजा जाएगा। गौरतलब है कि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने देश में सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में स्वच्छता और साफ-सफाई सुनिश्चित करने के उद्देश्य से 15 मई, 2015 को ‘कायाकल्प’ नाम से एक राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम को लॉन्च किया था। इसके तहत स्वच्छता, साफ-सफाई और संक्रमण नियंत्रण के उच्च मानकों को हासिल करने वाले ज़िला अस्पतालों, उप-मंडलीय अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों और हैल्थ एंड वेलनेस सेंटर को उनके कार्यों के आधार पर सम्मानित किया जाता है। 

कायाकल्प योजना ने सरकारी अस्पतालों के बीच काफी ज़्यादा उत्साह और एक सकारात्मक प्रतियोगिता को बढ़ाया है। यह कार्यक्रम स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोगों के मन में गर्व और स्वामित्व लेकर आया है और इससे उच्च मानक तक पहुंचने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं की संख्या में लगातार धीरे-धीरे वृद्धि हो रही है। इस उपलब्धि से अस्पताल के कर्मी गौरवान्वित है। वही सीएचसी के प्रभारी ने इस उपलब्धि पर प्रसन्नता जताते हुए इसका क्रेडिट अस्पताल के चिकित्सको, स्वास्थ्य कर्मियों एवं आउटसोर्सिंग एजेंसी के कर्मचारियों को दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News