BIHAR : सुन लो धर्म के ठेकेदारों.. हमें धर्म का ना पाठ पढ़ाना.. मानवता को हम मानने वाले.. हम उस पापा की बिटिया हैं..

BIHAR : सुन लो धर्म के ठेकेदारों.. हमें धर्म का ना पाठ पढ़ाना.. मानवता को हम मानने वाले.. हम उस पापा की बिटिया हैं..

कौन सा धर्म अपनाए हम..  मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे चर्च जाकर..

 क्या हिंदुस्तानी नहीं कहलाए हम.. एक ही धर्म की कट्टरता में..

 क्या भूल जाए मानवता को हम..  सुन लो धर्म के ठेकेदारों.. 

हमें धर्म का ना पाठ पढ़ाना..  मानवता को हम मानने वाले.. 

हम उस पापा की बिटिया हैं..

PATNA : यह पंक्तियां है राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की लाडली बेटी रोहिणी आचार्य की। जिन्होंने पिता की जेल से रिहाई और बेहतर स्वास्थ्य के लिए रोजा रखने का फैसला लिया था। रोहिणी आचार्य के इस फैसले को लेकर जमकर राजनीति हुई और इसे हिंदू धर्म के विरुद्ध बताया गया। अब रोहिणी आचार्य ने अपने विरोधियों को कविता के जरिए जवाब दिया है। कविता की पंक्तियों के साथ रोहिणी ने पिता लालू प्रसाद के साथ अस्पताल में ली गई एक तस्वीर भी शेयर की है। इस तस्वीर में लालू प्रसाद बेहद स्वस्थ नजर आ रहे हैं।

अपनी पक्तियों में रोहिणी ने धर्म की राजनीति करनेवालों पर सवाल उठाया है। उन्होंने लिखा एक धर्म की कट्टरता की जगह मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च जाकर हिन्दुस्तानी कहलाना ज्यादा बेहतर है। उन्होंने कहा कि उनके पिता ने सिखाया  है कि धर्म से ऊपर मानवता है। हम उसी को अपनाते हैं। बता दें कि रोहिणी आचार्य लगातार ट्विटर पर सक्रिय रहती है और बिहार की कानून व्यवस्था को लेकर भाई तेजस्वी की तरह सरकार की खिंचाई करने से परहेज नहीं करती हैं।

दो माह बाद आई लालू की तस्वीरें

लगभग दो माह पहले लालू प्रसाद को रांची जेल से तबीयत खराब होने के बाद दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था, उस समय लालू प्रसाद की जो तस्वीरें सामने आई थी, उनमें उनकी हालत बेहद खराब नजर आ रही थी. इसके बाद भी कुछ तस्वीरें लालू परिवार ने शेयर की थी। जिसमें वह अस्पताल के बेड पर आराम करते नजर आए थे। लंबे समय बाद लालू प्रसाद की ऐसी तस्वीरें सामने आई है, जिनमें वह फीट और स्वस्थ दिख रहे हैं. वहीं पिता के साथ रोहिणी के चेहरे पर भी खुशी देखी जा सकती है।


Find Us on Facebook

Trending News