BIHAR NEWS: सारण के शिक्षकों को मिली राहत, वेतन के साथ ही जुड़ जाएगा सर्विस टैक्स, बैंको के चक्कर काटने से मिली मुक्ति

BIHAR NEWS: सारण के शिक्षकों को मिली राहत, वेतन के साथ ही जुड़ जाएगा सर्विस टैक्स, बैंको के चक्कर काटने से मिली मुक्ति

CHHAPRA: सारण जिला के लगभग 16000 नियोजित शिक्षकों को सर्विस टैक्स जमा करने के लिए अब बैंक का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। फागुन का सर्विस टैक्स उनके वेतन के साथ ही कट जाएगा इस संबंध में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को आदेश दे दिया है। मालूम हो कि पूर्व में पेशा कर के दायरे में आने वाले शिक्षकों को चालान के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से प्रत्येक शिक्षक को अपना टैक्स भारतीय स्टेट बैंक मुख्य शाखा मे जमा करना पड़ता था। इसे लेकर सारण जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के कार्यकारी जिलाध्यक्ष अभय कुमार सिंह कई बार जिले के अधिकारियों को आवेदन दिया था और शिक्षकों की समस्याओं से रूबरू कराया था। 

कार्यकारी अध्यक्ष के अथक प्रयास के बाद जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना के द्वारा सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं सभी प्रधानाध्यापक तथा चिन्हित मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक को पत्र के माध्यम से निर्देश दे दिया गया है। आदेश में कहा गया है कि सारण जिले में कार्यरत सभी प्रकार के नियमित एवं नियोजित शिक्षकों के पेशा कर की कटौती उनके सितंबर माह के वेतन में समाहित कर वेतन विपत्र उपलब्ध कराया जाए। 


ये आते हैं सर्विस टैक्स के दायरे में

पेशा कर वैसे नियोजित शिक्षक को देना होता है जिनकी वार्षिक वेतन तीन लाख से अधिक है। 300000 -500000 के बीच वेतन प्राप्त कर रहे शिक्षकों या कर्मियों को  1000 प्रतिवर्ष,  5,00000 -10,00000 के बीच प्राप्त वेतन प्राप्त करने वाले शिक्षकों या कर्मियों को 2000 प्रतिवर्ष तथा 10 लाख से ऊपर वेतन प्राप्त करने वाले शिक्षक या कर्मियों को ढाई हजार प्रतिवर्ष प्रत्येक वर्ष सितंबर माह देना होता है।  यह राशि जमा करना अनिवार्य है अन्यथा वेतन भी बाधित हो जाता है।

चालान की बाध्यता हुई समाप्त

 नियमित शिक्षक एवं कर्मियों का पूर्व से पेशाकर की कटौती उनके वेतन से की जाती है। उसी प्रकार नियोजित शिक्षकों के पेशाकर की कटौती उनके वेतन से ही कर ली जाएगी तथा उन्हें व्यक्तिगत रूप से चालान के माध्यम से टैक्स जमा करने की बाध्यता खत्म हो गई ।

महिला शिक्षकों को राहत

इससे खासकर महिला शिक्षकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था।। प्राथमिक शिक्षक संघ लिखित रूप से किए गए प्रयास के बदौलत यह संभव हो पाया है। इस कार्य के लिए प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रधान सचिव दिनेश कुमार सिंह, अध्यक्ष ब्रजेश कुमार सिंह, संयुक्त सचिव सुरेंद्र सिंह, मीडिया प्रभारी संजय कुमार, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष श्रीमती शिखा सिन्हा, कोषाध्यक्ष विजेंद्र कुमार विजय, शशि शेखर, उपेंद्र सिंह, मनीष कुमार सिंह, मुन्ना प्रसाद, राजेश मास्टर, दिलीप कुमार सिंह, सुरेंद्र राम, हरेश्वर सिंह, मिथिलेश यादव, राजू दास, पप्पू सिंह, तौकीर उस्मान अंसारी, शम्सु दुल्ला सिद्दीकी, नीरज कुमार, राजेश कुमार ,माधुरी कुमारी ,रेखा कुमारी, गुड़िया कुमारी, अंजू कुमारी आदि शिक्षक शिक्षिकाओं ने हर्ष व्यक्त किया।

Find Us on Facebook

Trending News