बिहार की बेटी अनन्या सिंह ने संगीत के क्षेत्र में मचायी धूम, अपनी उम्र से ज्यादा अवार्ड और सम्मान पाकर हैं गदगद

बिहार की बेटी अनन्या सिंह ने संगीत के क्षेत्र में मचायी धूम, अपनी उम्र से ज्यादा अवार्ड और सम्मान पाकर हैं गदगद

SIWAN: बात ज्यादा पुरानी नहीं है। पहले कोई किसी को ‘बिहारी’ कहकर संबोधित करता था तो उसे गलत नजरिए से देखा जाता है। सीधे शब्दों में कहे तो बिहारी होना या कहलाना खराब माना जाता था। हालांकि आज स्थिति बिल्कुल विपरीत है। आज देश के हर बड़े क्षेत्र पर बिहारियों का कब्जा है। बिहार से संबंध रखने वाले कई लोग देश में बड़े पदों पर आसीन हैं। साथ ही विदेशों में भी बिहारियों की प्रतिभा का लोग लोहा मानते हैं।

ऐसी ही कहानी है बिहार जिले के सीवान से ताल्लुक रखने वाली अनन्या सिंह की, जिन्होनें बेहद कम समय में संगीत के क्षेत्र में खुद ही पहचान बना ली है। उन्हें बॉलीवुड गाने, भजन और लोकगीतों के लिए याद किया जाता है। इसके अलावा उन्होनें प्रधानमंत्री के समक्ष प्रस्तुति की है और अनगिनत अवॉर्ड से समान्नित हैं। वह अबतक 400+ स्टेज शो कर चुकी हैं। यह कोई नई बात नहीं है जब बिहार की बेटी सारे देश में डंका बजा रही है। बात करें तो शारदा सिन्हा, मैथिली ठाकुर के साथ अनन्या सिंह को भी पहचाना जाने लगा है। 

सीवान में जन्म, 2015 से दिखाई कला

23 वर्षीय अनन्या सिंह मूल रूप से सीवान जिले के दुरौंधा थाना के दर्शनी गांव की हैं। उनके पिता धनंजय सिंह हैं और मां सुनीता सिंह खुद गायन की छात्रा हैं। फिलहाल वह परिवार सहित गोरखपुर में रहती है। अनन्या को बचपन से संगीत में काफी रुचि थी। 2015 से उन्होनें विभिन्न सरकारी एवं निजी मंचों पर अपनी गायन की प्रस्तुति दी, और अबतक 400 से अधिक मंच साझा कर चुकी हैं। वह मुख्य रूप से लोकगीत, क्लासिकल गीत, बॉलीवुड गीत, गजल तथा सुगम संगीत की भी प्रस्तुतियां देती है। इन्होंने काफी कम समय मे ही ढेर सारी उपलब्धियां अपने नाम कर चुकी है।। अगर हम इनकी उपलब्धियों की बात करे तो इस प्रकार है जो काफी लंबी है।

अनन्या सिंह की उपलब्धियां और सम्मान-

  1. गोरखपुर में वीरांगना एक्सीलेंट अवॉर्ड 2020 से सम्मानित किया गया।
  2. कानपुर में यूपी गौरव अवॉर्ड 2021 द्वारा सम्मानित किया गया।
  3. महुआ प्लस चैनल में रियलिटी शो ‘चल बलिये सुर क्षेत्र’ में टॉप 10 की प्रतिभागी रह चुकी हैं।
  4. यूपी संस्कृति विभाग द्वारा चयनित कलाकार हैं।
  5. यूपी संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में पूरे गोरखपुर मंडल से प्रथम स्थान पाया है।
  6. इन्हें उत्तर प्रदेश सरकार व भारत सरकार द्वारा सम्मानित किया जा चुका है।
  7. साल 2019 में संस्कृति मंत्रालय के उद्घाटन समारोह में दिनांक 9 मार्च को प्रधानमंत्री के समक्ष प्रस्तुति दी तथा सम्मान प्राप्त किया।
  8. भारत के केंद्रीय संस्कृत मंत्री श्री महेश शर्मा जी द्वारा सम्मानित व पुरस्कृत की जा चुकी हैं।
  9. गाजियाबाद के सांसद विजय कुमार सिंह द्वारा पुरस्कृत व समान्नित की जा चुकी हैं।
  10. साल 2019 में प्रयागराज के कुम्भमेला में अपने लोकगायन की प्रस्तुति दी।
  11. ‘के बनी माटी के लाल’ (2018) की उपविजेता रही है।
  12. बॉलीवुड के सुपर सिंगर शब्बीर कुमार के साथ स्टेज साझा किया और सम्मान प्राप्त किया।
  13. लखनऊ महोत्सव 2018 में अपने लोकगायन की प्रस्तुति दी।
  14. गोरखपुर महोत्सव 2016, 2017, 2018 में अपनी प्रस्तुति दी।
  15. कुशीनगर महोत्सव 2017 एवं 2018 में अपनी प्रस्तुति दी।
  16. प्रतापगढ़ महोत्सव 2019 में अपनी प्रस्तुति दी।
  17. सूरजकुंड महोत्सव (हरियाणा) 2018 में अपने लोकगायन की प्रस्तुति दी।
  18. देवरिया महोत्सव 2017 में लोकगायन तथा बॉलीवुड गायन की प्रस्तुति दी।
  19. दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में गायन प्रतियोगिता में पिछले तीन साल से विजेता रही हैं।
  20. इन्होनें कई भोजपुरी फिल्मों के लिए भी गीत रिकार्ड किए हैं।
  21. रेडियो मंत्रा 99.9 FM गोरखपुर से कई बार लाइव अपने गीतों की प्रस्तुति देती आ रही हैं।
  22. 2019 में अयोध्या में हुए भव्य दिपोत्सव में भजन व लोकगायन की प्रस्तुति दी।
  23. भारत अध्ययन केन्द्र इंडिक द्वारा हुए कार्यक्रम में महामना सभागार BHU में प्रस्तुति दी।
  24. लगातार 4 वर्षों से गुरू पूर्णिमा के दिन गोरखपुर में सरकारी कार्यक्रम में प्रस्तुति देती आ रही हैं।
  25. Fm 90.8 Loudspeaker , 91.1 Fm Tadka और 91.9 Fm Radio पर अक्सर Live गीतों की प्रस्तुतियां देती हैं।


Find Us on Facebook

Trending News