माता-पिता की सहमति से ही बच्चे जायेंगे स्कूल, शिक्षा विभाग ने जारी किया डिटेल गाइडलाइन,जानें....

माता-पिता की सहमति से ही बच्चे जायेंगे स्कूल, शिक्षा विभाग ने जारी किया डिटेल गाइडलाइन,जानें....

पटनाः बिहार सरकार के आदेश के बाद शिक्षा विभाग ने सभी विश्वविद्यालय, हाई स्कूल,  प्लस टू विद्यालय एवं कोचिंग संस्थानों को  खोलने का निर्देश दिया है .शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने सभी विश्वविद्यालय के कुलपति, सभी जिला दंडाधिकारी व जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र भेजा है.

पत्र में जो गाइडलाइंस है उसे फॉलो करने का निर्देश दिया गया है.  4 जनवरी 2021 से सभी सरकारी निजी विद्यालय के नौवीं से 12वीं कक्षा तक  तथा सभी विश्वविद्यालयों-महाविद्यालयों के अंतिम वर्ष की कक्षाओं एवं सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों को चालू करने का निर्णय लिया गया है. प्रत्येक कक्षा में छात्रों की कुल क्षमता की 50 दिन उपस्थिति प्रथम दिन रहे शेष 50% की उपस्थिति दूसरे दिन रहे. इस प्रकार किसी भी कार्य दिवस पर क्षमता का 50 से अधिक उपस्थिति नहीं होगी.

18 जनवरी के बाद नीचे का क्लास शुरू कराने पर होगा विचार


शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने पत्र में उल्लेख किया है कि 18 जनवरी 2021 के बाद शेष कक्षाओं को चालू करने का निर्णय विभाग द्वारा स्थिति का मूल्यांकन कर लिया जाएगा. जीविका दीदियों की तरफ से दो-दो मास्क का वितरण होगा. सभी कोचिंग संस्थानों कोविड-19 शर्त के साथ खोलने का प्रस्ताव संबंधी जिला पदाधिकारी को समर्पित करेंगे. नए कक्षा में नामांकन के समय केवल अभिभावक को ही रखा जाए, बच्चों को इससे मुक्त रखा जाए. यदि संभव हो तो ऑनलाइन नामांकन संचालन की व्यवस्था की जाए .

माता-पिता की सहमति से हीं छात्र स्कूल जायेंगे

शिक्षा विभाग ने कहा है कि छात्र-छात्राओं के विद्यालय उपस्थिति के पूर्व माता-पिता की सहमति लिया जाना चाहिए. यदि विद्यार्थी परिवार की सहमति से घर से ही अध्ययन करना चाहता है तो उन्हें अनुमति देनी होगी.

Find Us on Facebook

Trending News