ठंड से कंपकंपाया बिहार, अभी और गिरेगा न्यूनतम तापमान, पढाई लिखाई पर भी पड़ा असर

ठंड से कंपकंपाया बिहार, अभी और गिरेगा न्यूनतम तापमान, पढाई लिखाई पर भी पड़ा असर

पटना. बर्फीले इलाकों और शुष्क मरुभूमि से आ रही सर्द पछुआ हवा के कारण बिहार के सभी जिलों में अब शीतलहर का असर दिखने लगा है. राजधानी पटना में न्यूनतम तापमान गिरने का सिलसिला लगातार बरकरार है. खासकर सुबह के समय पिछले तीन दिनों से न्यूतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस से कम रिकॉर्ड किया जा रहा है जबकि तेज पछुआ हवा के कारण दोपहर में धूप उगने के बाद भी ठंड का अहसास हो रहा है. मंगलावर को पटना में सुबह के समय हल्का धुंध भी देखा गया जिस वजह से वाहन चालकों को अल्ल सुबह परेशानी का सामना करना पड़ा. इसी तरह दृश्यता कम होने के कारण हवाई उड़ानों की आवाजाही भी आंशिक रूप से प्रभावित रही. 

मौसम विभाग के अनुसार राज्य में शीतलहर का प्रकोप देखा जा रहा है. पटना में सोमवार को न्यूनतम तापमान 6.6 डिग्री सेल्सियस तो गया में सबसे कम 4.1 डिग्री सेल्सियस तापमान होने से लोगों को दिनभर ठंड में ठिठुरना पड़ा. राज्य में अगले 24 घंटों के दौरान औसत न्यूनतम तापमान 8-9 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान 22-23 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की उम्मीद है. 

वहीं मौसम में हो रहे बदलाव के कारण 23 दिसम्बर से राज्य के कई हिस्सों में कोहरा बढ़ सकता है. खासकर सुबह के समय घना कोहरा हो सकता है. वहीं रात के समय न्यूनतम तापमान में जोरदार गिरावट होने की संभावना है. 

न्यूनतम तापमान में हो रहे बदलाव के कारण पटना जिला प्रशासन ने स्कूल में शैक्षणिक गतिविधि की अवधि को बदलने का आदेश जारी किया है. पटना जिले में मंगलवार से सभी स्कूल सुबह 9 बजे या उसके बाद ही खोले जा सकेंगे. सर्दी का सितम अगर और ज्यादा बढ़ता है तो पटना सहित राज्य के विद्यालयों को बंद करने का आदेश भी जारी हो सकता है. 


Find Us on Facebook

Trending News