विलुप्त हुए सभ्यता का मिला साक्ष्य, कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लेंगे जायजा

विलुप्त  हुए सभ्यता का मिला साक्ष्य, कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लेंगे जायजा

नवगछिया - बिहपुर के जयरामपुर गुवारीडीह बहियार में कोसी के तट पर चंपा सभ्यता के विकसित होने के कुछ साक्ष्य मिले हैं। इस सभ्यता का विकास करीब ढाई से तीन हजार साल पूर्व माना जा रहा है। यहां से हाथी के दांत, मिट्टी का लोटा, चंदन घिसने का पात्र, कलशनुमा पात्र सहित अन्य अवशेषों को बरामद किया गया है। हालांकि इस पर विभिन्न इतिहासकारों के बीच मतांतर है।

 कुछ इतिहासकारों की मानें तो यहां मिले पंच मार्क सिक्के का चलन कभी मगध साम्राज्य में हुआ करता था, जबकि कुछ इतिहासकार चंपा सभ्यता के विकसित होने की बात कह रहे है।16 दिसंबर को पटना से पुरातत्व विभाग की दो सदस्यी टीम डॉ. हर्षरंजन के नेतृत्व में गुवारीडीह पहुंची है। 








टीम के दोनों सदस्य यहां मिले अवशेषों का अवलोकन और फोटोग्राफी कर रही है, साथ ही स्थानीय लोगों से भी टीले के बारे में जानकारियां ले रही है। टीम के सदस्यों ने भी बरामद सामग्रियों को तीन हजार साल पुराना बताया है। अब वे लोग अपनी रिपोर्ट मुख्यालय को सौपेंगे।

पुरातत्व स्थल को लेकर जयरामपुर के लोगों के तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं। पूर्व प्रमुख मनोज कुमार, महेश्वर सिंह निषाद, राजेश सिंह, पैक्स अध्यक्ष विकास कुमार समेत अन्य ने बताया कि यहां से बरामद सामग्रियों को इतिहासकार अस्थिकलश बता रहे हैं। पुरातत्व स्थल के पास से हिरण का चित्र अंकित किया हुआ मुहर भी मिला है। वहीं, मुख्‍यमंत्री इसका जायजा लेने कल आ सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News