भाजपा के मंत्री ने सीएम नीतीश को लेकर दिया बड़ा बयान – मजबूरी में स्वीकार किया दूसरे का नेतृत्व

भाजपा के मंत्री ने सीएम नीतीश को लेकर दिया बड़ा बयान – मजबूरी में स्वीकार किया दूसरे का नेतृत्व

PATNA/HAJIPUR : बिहार में एनडीए भले ही नीतीश कुमार को अपना नेता मानती हो, लेकिन भाजपा को अब भी इस बात की मलाल है कि बिहार में भाजपा का अपना सीएम नहीं है। यह जख्म समय-समय पर भाजपा को दर्द देता रहता है। अब एक बार फिर से भाजपा ने अपना यह दर्द बयां कर दिया है। भाजपा नेता और पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने कहा है कि आज बिहार में पार्टी की यह स्थिति है कि हमें दूसरे के नेतृत्व में काम करना पड़ रहा है। वह हाजीपुर में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

2015 के हार का जख्म

पंचायती राज मंत्री ने कहा आज दूसरे दल के साथ हमें सरकार बनानी पड़ रही है, इसका सबसे बड़ा कारण 2015 का विधानसभा चुनाव है, जिसमें हमें पूरी उम्मीद थी कि हमें जीत मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। इस हार के कारण ही हमें गठबंधन में सरकार बनानी पड़ी

पार्टी के नींव को मजबूत करने की बात

दरअसल, सम्राट चौधरी ने उक्त बातें भाजपा की जमीनी स्तर पर कमजोर स्थिति को लेकर कही। उन्होंने कहा कि 2015 के चुनाव ने साबित किया कि पार्टी को जमीनी स्तर पर और मजबूती से काम करना होगा, जिसके लिए कार्यकर्ताओं को मेहनत करने की आवश्यकता है। अगर जमीनी स्तर पर पार्टी को मजबूती मिलेगी तो निश्चित रूप से राज्य में हम अकेले ही सरकार बनाने में सक्षम होंगे।

बता दें कि 2015 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और जदयू अलग अलग मैदान में थी। इस चुनाव में जदयू ने राजद के साथ मिलकर भाजपा को पटखनी दी थी। हालांकि कुछ समय बाद ही जदयू ने राजद से रिश्ता तोड़कर भाजपा से साथ बिहार में सरकार बना ली थी। इस विधानसभा चुनाव में भाजपा को जदयू से ज्यादा सीटें मिली, लेकिन इसके बाद भी पार्टी ने नीतीश कुमार पर ही अपना विश्वास जताया।


Find Us on Facebook

Trending News