बीजेपी संगठन से ऊपर हैं राधामोहन? बिना निर्णय के ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने घोषित किया BJP के मेयर-डिप्टी मेयर प्रत्याशी, दल के कद्दावर MLA विरोध में उतरे

बीजेपी संगठन से ऊपर हैं राधामोहन? बिना निर्णय के ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने घोषित किया BJP के मेयर-डिप्टी मेयर प्रत्याशी, दल के कद्दावर MLA विरोध में उतरे

PATNA: बिहार बीजेपी सत्ता से बेदखल हो गई है। न सिर्फ सत्ता गई बल्कि दल के अंदर भी भारी सिरफुटौव्वल है। नेताओं के आपसी खींचातान में पार्टी लगातार कमजोर हो रही। बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पार्टी के एक कद्दावर विधायक के बीच खुल्लमखुल्ला जंग जारी है। दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का विप चुनाव-जिला परिषद अध्यक्ष चुनाव के दौरान की भूमिका सबने देखी। लिहाजा विप चुनाव में बीजेपी कैंडिडेट की हार हो गई थी। अब नगर निकाय चुनाव में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह सांसद और पार्टी के विधायक फिर से आमने-सामने हो गये हैं। बिहार में भले ही नगर निगम का चुनाव पार्टी आधारित नहीं हो, लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने पार्टी की तरफ से अपने संसदीय क्षेत्र में मेयर-डिप्टी मेयर के लिए अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। इसके बाद भाजपा के विधायक विरोध में मैदान में उतर गये हैं. साथ ही नेतृत्व से संज्ञान लेने की मांग की है। 

भाजपा के अंदर ही घमासान 

बीजेपी ने भले ही नगर निगम चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी भले ही नहीं दिया हो लेकिन पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व मोतिहारी के सांसद  राधामोहन सिंह ने मोतिहारी नगर निगम के लिए मेयर-डिप्टी मेयर प्रत्याशी की घोषणा कर दी है। पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने अपने फेसबुक पेज से इसकी घोषणा की है। राधामोहन सिंह ने लिखा है कि ..आजमाये हुए को क्या आजमाना,जान रहा है सारा जमाना। मोतिहारी नगर निगम चुनावों में महापौर पद के लिए भाजपा प्रत्याशी प्रकाश अस्थाना एवं उपमहापौर पद के लिए भाजपा प्रत्याशी डॉ लालबाबू प्रसाद को अपना समर्थन देकर विजयी बनाएं.

राधामोहन के विरोध में खड़े हुए पवन जायसवाल  

बीजेपी नेतृत्व के इजाजत और निर्णय के बिना खुद से बीजेपी उम्मीदवार की घोषणा के बाद राधामोहन सिंह के जिले में ही उऩका विरोध शुरू हो गया है। बीजेपी के कद्दावर विधायक पवन जायसवाल खुलकर मैदान में उतर गये हैं। उऩ्होंने राधामोहन सिंह के इस घोषणा को गलत करार दिया है। साथ ही भाजपा शीर्ष नेतृत्व से राधामोहन सिंह के मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की मांग की है। पवन जायसवाल ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है...राज्य में नगर निकाय चुनाव की घोषणा के बाद भाजपा बिहार ने नगर निकायों में मेयर, उप मेयर, मुख्य पार्षद, उप मुख्य पार्षद के संभावित प्रत्याशी को समर्थन देने सम्बन्धी निर्णय नहीं लिया है। इसके पहले नगर निगम मोतिहारी के लिए भाजपा प्रत्याशी मेयर , उप मेयर की घोषणा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के फ़ेसबुक पेज से होना अत्यंत दुखद ही नहीं बल्कि पार्टी सिद्धांतों के विपरीत है, हमलोग ऐसे मनमाने पूर्ण निर्णय के विरूद्ध तथा पार्टी के राज्य स्तरीय निर्णय के साथ हैं। भाजपा शीर्ष नेतृत्व को शीघ्र स्वयंभू तरीक़े से चम्पारण में हो रहे मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की आवश्यकता है। विधायक पवन जायसवाल ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को टैग किया है और मनमाने निर्णय पर रोक लगाने की मांग की है। बीजेपी विधायक ने कहा कि कोई भी नेता संगठन से ऊपर है क्या....संगठन के स्तर से कोई निर्णय हुआ नहीं इसके पहले ही कैसे किसी को कैंडिडेत घोषित कर देंगे?

बता दें, मोतिहारी नगर निगम में दूसरे फेज में चुनाव है। पहले फेज में रक्सौल,चकिया में चुनाव है। रक्सौल नगर परिषद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल के संसदीय क्षेत्र में पड़ता है। अब तक इन क्षेत्रों में बीजेपी ने किसी कैंडिडेट को समर्थन देने का ऐलान ही नहीं किया है। इसके पहले मोतिहारी के सांसद राधामोहन सिंह ने मोतिहारी बीजेपी के जिलाध्यक्ष को मेयर कैंडिडेट घोषित कर दिया। इसके बाद से दल के अंदर ही विवाद पैदा हो गया है। भाजपा के कई नेता राधामोहन सिंह के विरोध में उतर गये हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News