भाजपा नेता की ईंट से कूच-कूचकर निर्मम पिटाई, दो दिन पहले भतीजे को भी पीटा गया था,पुलिस की निष्क्रियता से घटी घटना

भाजपा नेता की ईंट से कूच-कूचकर निर्मम पिटाई, दो दिन पहले भतीजे को भी पीटा गया था,पुलिस की निष्क्रियता से घटी घटना

नवगछिया। नवगछिया शहर के छोटी ठाकुरबारी रोड स्थित इलेक्ट्रिक दुकानदार सह भाजपा नेता रसलपुर निवासी मो नईम को पड़ोस के स्वर्ण व्यवसाई शुभम कुमार एवं शैलेश कुमार उर्फ पीकू ने ईट से पीट पीट  कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. सर पर ईट से पिटाई के कारण उसका मुंह और सर फूल गया था और वह बेहोश हो गया था. मारपीट की घटना के बाद मो नईम को गंभीर स्थिति में नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया. जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसकी स्थिति को गंभीर देखते हुए बेहतर इलाज के लिए मायागंज अस्पताल भागलपुर रेफर कर दिया गया. मो नईम को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल करने की खबर जैसे ही रसलपुर गांव पहुचीं. वहां से सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण नवगछिया अनुमंडल अस्पताल पहुच गए. घटना के बाद लोगों मे काफी आक्रोश था। जिसके कारण स्थिति काफी तनावपूर्ण हो गई थी. मारपीट की घटना के बाद स्थिति को तनावपूर्ण होने की सूचना मिलते ही एसडीपीओ दिलीप कुमार नवगछिया अनुमंडल अस्पताल पहुंचे. जहां उन्होंने आक्रोशित लोगों को शांत कराते हुए कार्रवाई करने का आश्वासन दिया. एसडीपीओ के आश्वासन के बाद लोग शांत हुए.

 पुलिस ने कार्रवाई की होती तो नहीं घटती घटना 

दो दिन पूर्व भी इन दोनों ने चोर का अफवाह फैला कर दो बालक रसलपुर निवासी मो मंजूर के 16 वर्षीय पुत्र मो सोहेल और मो उमर के 14 वर्षीय पुत्र मो अरबाज को पीट पीट कर अधमरा कर भीड़ के हवाले कर दिया था. जिसमे दोनों बालक को उन दोनों के अलावा भीड़ ने पीटपीट कर गंभीर कर दिया था. दोनो बालक कपड़ा खरीदने के लिए बाजार आए थे. दोनो  नईम का भतीजा था जिसे उन्होंने मारपीट कर घायल किया था. उस दिन दोनों बालकों किसी तरह जान ही बच गई थी नहीं तो भीड़ उसकी जान ले ही लेती. उस घटना के बाद भी पुलिस ने किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की थी. 

आवेदन नहीं तो कार्रवाई नहीं?

लोगों का कहना था कि अगर पीड़ित द्वारा आवेदन नहीं दिया गया तो ऐसे मामलों में पुलिस अपने स्तर से भी कार्रवाई कर सकती थी. लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं जिसके कारण उन लोगों का मनोबल बढ़ गया और फिर मारपीट की घटना को उन लोगो ने अंजाम दिया. लोग कह रहे थे कि अगर उनके दुकान में चोरी हुई है तो वह सुबह किसी को भी चोर कह कर पिटाई कर देगा. एसडीपीओ दिलीप कुमार ने कहा कि तत्काल शुभम कुमार एवं शैलेश उर्फ पीकू को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है पुलिस मामले की छानबीन कर रही है मामले में दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Find Us on Facebook

Trending News