झारखंड सरकार को गिराने की साजिश रच रही भाजपा, हेमंत सोरेन के आरोप से मचा भूचाल

झारखंड सरकार को गिराने की साजिश रच रही भाजपा, हेमंत सोरेन के आरोप से मचा भूचाल

DESK. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को एक बार फिर से अपने विपक्षी पर निशाना साधा है। उन्होंने दावा किया कि झारखंड में हमारी सरकार बनते ही इसे गिराने की कोशिश शुरू हो गई थी। अपने बयान में सोरेन ने कहा कि आज चर्चा है कि झारखंड में मौजूदा सरकार को गिराने की कोशिश सरकार बनने के अगले दिन से ही शुरू हो गई थी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ तथाकथित आदिवासी हमारे प्रतिद्वंद्वियों के साथ मिलकर राज्य के मूल आदिवासियों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। 

हेमंत सोरेन ने यह भी कहा कि मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि 20 साल से चली आ रही आपकी साजिश को लोग अब पहचानने लगे हैं। इसलिए 2019 में उन्होंने इस डबल इंजन के एक इंजन को उखाड़ फेंका था। उनका पूरा निशाना भाजपा पर था। इससे पहले झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कथित अवैध खनन मामले के संबंध में बृस्पतिवार को साढ़े नौ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी। सोरेन दोपहर के करीब केंद्रीय जांच एजेंसी के रांची कार्यालय में पहुंचे थे और रात करीब नौ बजकर 40 मिनट पर वहां से निकले। वहीं, हेमंत सोरेन के साथ एकजुटता दिखाने के लिए उनकी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के हजारों कार्यकर्ता रांची में एकत्रित हुए। 

इससे पहले उन्होंने कहा था कि जब से एजेंसी जांच कर रही है, जो आरोप लगे हैं वो कहीं से संभव प्रतीत नहीं होते। कहीं न कहीं एजेंसियों को जांच करने के बाद भी कोई ठोस निर्णय या ठोस आरोप लगाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि मैं CM हूं जिस प्रकार से तलब करने का कार्रवाई चल रही है, लग रहा है कि हम देश छोड़कर भागने वाले लोग हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि कहा कि इस संबंध में मैंने एक पत्र ED को भेजा है कि किस प्रकार से 1000 करोड़ के घोटाले का जो जिक्र साहेबगंज जिले से आया है वो दुर्भाग्यपूर्ण है। 


उन्होंने कहा कि आपको तय करना है कि इस राज्य में षड्यंत्रकारियों का राज चलेगा या यहां के आदिवासियों का। हमें सत्ता से बेदखल करने के लिए ये लोग लगे हुए हैं, इन्हें पता है कि अगर मैं पांच वर्ष तक यहां टिक गया तो आदिवासियों को मजबूत कर दूंगा।


Find Us on Facebook

Trending News