BJP का गेम प्लानः दोनों डिप्टी CM की बजाए 'जनक राम' PM मोदी से करेंगे मुलाकात, जबकि पिछड़ा-अति पिछड़ा विभाग का जिम्मा संभाल रहीं रेणु देवी

BJP का गेम प्लानः दोनों डिप्टी CM की बजाए 'जनक राम' PM मोदी से करेंगे मुलाकात, जबकि पिछड़ा-अति पिछड़ा विभाग का  जिम्मा संभाल रहीं रेणु देवी

PATNA:  जातीय जनगणना कराने का मुद्दा गरमाया हुआ है। 23 अगस्त को सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार का सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेगा। पहले बिहार बीजेपी जातीय जनगणना कराने की मांग को खारिज कर रही थी। पर अब सीएम नीतीश के साथ हो गई है। बीजेपी ने प्रतिनिमंडल में शामिल होने के लिए नाम भी तय कर दिये हैं. बिहार भाजपा ने पीएम मोदी से मुलाकात के लिए पिछड़ा-अति पिछड़ा समाज के नेता की बजाए दलित नेता को भेजने का निर्णय लिया है। पार्टी की तरफ से मंत्री जनक राम प्रतिनिधि मंडल में शामिल होंगे। इस प्रतिनिधि मंडल से इस समजा(पिछड़ा-अति पिछड़ा) से आने वाले दोनों डिप्टी सीएम तारिकिशोर-रेणु देवी को अलग रखा गया है। वैसे डिप्टी सीएम रेणु देवी नीतीश कैबिनेट में पिछड़ा-अति पिछड़ा कल्याण विभाग की ही जिम्मेदारी संभाल रही हैं। जातीय जनगणना कराने के पीछे भी यही उद्देश्य है कि पिछड़ा-अति पिछड़ा समाज की वास्तविक संख्या सामने आ सके। जनगणना में दलित-महादलित समाज की गिनती होती है। लेकिन बीजेपी ने जातीय जनगणना कराने की मांग को लेकर पीएम मोदी से मुलाकात करने वाले प्रतिनिधि मंडल में दलित नेता को आगे कर दिया . 

बीजेपी ने जनक राम को किया आगे

बीजेपी के सूत्र बताते हैं कि भाजपा ने काफी सोच-विचार कर दलित समाज से आने वाले मंत्री जनक राम को आगे किया है। पार्टी जनक राम को आगे कर दलितों में मैसेज देने की कोशिश में है। लिहाजा पीएम मोदी से मिलने के लिए जनक राम का चयन किया है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि वैसे भी दोनों डिप्टी सीएम पूरी मजबूती से पक्ष नहीं रख सकते थे। लिहाजा नेतृत्व ने पिछड़ा-अति पिछड़ा की जगह दलित समाज से आने वाले और पूर्व सांसद सह नीतीश कैबिनेट में खान एवं भूतत्व मंत्री को आगे किया है। प्रतिनिधि मंडल में जनक राम को भेजने पर बीजेपी के अंदर यह चर्चा शुरू हो गई है. चर्चा यह छिड़ गई है कि अगर दोनों सक्षम नहीं हैं तो फिर डिप्टी सीएम क्यों बनाया गया ?  

11 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल का पीएम मोदी से मुलाकात 

 सीएम के नेतृत्व में पीएम मोदी से मिलनेवाले  डेलिगेशन में भाजपा से मंत्री जनक राम शामिल होंगे। वहीं जदयू से शिक्षा मंत्री विजय चौधरी भी सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में रहेंगे। इसके अलावे नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी यादव, कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित अजित शर्मा, महबूब आलम,अख्तरुल इमान, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी,मंत्री मुकेश सहनी, सूर्यकांत पासवान ,अजय कुमार समेत 11 नेता शामिल होंगे। सोमवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री से बिहार के प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात होगी।

बता दें, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना कराने को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा था। सीएम नीतीश ने इस संबंध में 3 अगस्त को प्रधानमंत्री से मुलाकात का समय मांगा था। प्रधानमंत्री ने सीएम सचिवालय को पत्र भेजकर जानकारी दी कि आपका पत्र मिला । फिर 23 अगस्त को मुलाकात के लिए समय अलॉट कर दिया।  

Find Us on Facebook

Trending News