बॉलीवुड एक्टर कुमार आर्यन ने विधायक नीरज बबलू से लिया आशीर्वाद, 3 फरवरी को रिलीज होगी फिल्म 'एजुकेशन द टेरर'

बॉलीवुड एक्टर कुमार आर्यन ने विधायक नीरज बबलू से लिया आशीर्वाद, 3 फरवरी को रिलीज होगी फिल्म 'एजुकेशन द टेरर'

SUPAUL : बालीवुड एक्टर कुमार आर्यन ने अपने गृह क्षेत्र में छातापुर विधान सभा से विधायक व बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और दिवंगत फ़िल्म अभिनेता सुशांत सिँह राजपूत के बड़े भाई नीरज कुमार बबलू से मिलकर उनका आशीर्वाद लिया। नीरज बबलू ने फिल्म अभिनेता कुमार आर्यन के सिर पर हाथ रखकर आशीर्वाद दिया। इस मौके पर उन्होंने आम लोगों से अपील भी किया कि यह फिल्म बिहार की भ्रष्ट शिक्षा व्यवस्था पर फिल्माया गया फिल्म है। इसको ज्यादा से ज्यादा लोग देखें और इस माध्यम से जागरूक होकर लाभ उठाएं। आपको बता दें कि फिल्म अभिनेता कुमार आर्यन की एजुकेशन द टेरर हिंदी मूवीज आगामी 3 फरवरी को बिहार, बंगाल और झारखंड के सिनेमाघरों में रिलीज होगा।

फिल्म के अभिनेता कुमार आर्यन

बता दें की कुमार आर्यन सुपौल जिले के गोविंदपुर गांव के निवासी हैं।  कुमार आर्यन इस फ़िल्म में एक पढ़े लिखे बेरोजगार लड़के का किरदार निभा रहे है।13 साल के कठिन संघर्ष के बाद उनकी ये फ़िल्म 3 फरवरी को बिहार ,झारखंड और बंगाल में रिलीज हो रही है। 

भ्रष्ट शिक्षा व्यवस्था पर फिल्माया गया है मूवी

फिल्म में कुमार आर्यन रंजन नाम के एक बेरोजगार लड़के का रोल निभा रहे है और लंबे संघर्ष के बाद जब नौकरी नही मिलती है तो वो किस तरीके से बेरोजगारी पर चोट करते हुए एक ऑटो पर अपना पूरा सर्टिफिकेट चिपका कर ,सरकार को आइना दिखाते है। कुमार आर्यन का 13 सालों का संघर्ष, कुमार आर्यन अपने संघर्ष की कहानी सुनाया। जो काफी संघर्षपूर्ण रहा।

घर से सात सौ रुपया निकले, काफी संघर्ष के बाद मिला मुकाम

कुमार आर्यन ने बताया कि वे 13 साल पहले सुपौल जिले के प्रतापगंज प्रखंड के छोटे से गांव गोविंदपुर से माँ पिता जी का आशीर्वाद एवं आशीर्वाद स्वरूप 700 रुपया प्राप्त कर अपने सफर पर निकल गए थे। जिसके बाद काफी ठोकरे खाने के बाद पहले दिल्ली गया। वहां काफी ऑडिशन देने के बाद जब बात नही बनी। उसके बाद मुंबई के सफर पर निकल गए। वहां भी काफी दौर भाग के बाद बॉलीवुड की फिल्म द एजुकेशन टेरर मिली। जिसमे उन्होंने रंजन नाम के लड़के का किरदार निभाया है। वो कहते है कि सभी बिहार,झारखंड एवं बंगाल वासी से इस फ़िल्म को सिनेमाघरों में देखे और उन्हें आशीर्वाद दे।

सुपौल से सुभाष चन्द्र की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News