BREAKING NEWS : रेल अस्पताल में डॉक्टर ड्यूटी से नदारद, इलाज के अभाव में राजधानी एक्सप्रेस के टीटीई की हो गई मौत, मच गया हंगामा

BREAKING NEWS : रेल अस्पताल में डॉक्टर ड्यूटी से नदारद, इलाज के अभाव में राजधानी एक्सप्रेस के टीटीई की हो गई मौत, मच गया हंगामा

CHHAPRA : इस वक्त की बड़ी खबर सारण जिले से सामने आई है, जहां छपरा जंक्शन पर राजधानी एक्सप्रेस में काम करने वाले एक टीटीई की मौत हो गई है। इस घटना के आक्रोशित रेलकर्मियों ने रेलवे अस्पताल के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की है।

मामले में मिली जानकारी के अनुसार बीती रात टीटीई मनोज कुमार यादव, रात में राजधानी एक्सप्रेस में ड्यूटी करते हुए छपरा पहुंचे थे यहां अपने क्वार्टर पर आराम करने पहुंचे तो कुछ देर के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई। परिवार के लोग आनन फानन में उसे रेलवे के अस्पताल पहुंचे। लेकिन यहां कोई इलाज करने के लिए कोई डॉक्टर मौजूद नहीं था। अटेंडर के भरोसे पूरे अस्पताल को छोड़ दिया गया था। इस दौरान डॉक्टर से संपर्क कर उन्हें बुलाया गया। लेकिन काफी समय गुजरने के बाद डॉक्टर नहीं पहुंचे। इस दौरान मरीज की हालत खराब होती जा रही थी। जिसके कारण रेलवे अस्पताल से मरीज को सदर अस्पताल लाया गया। लेकिन इससे पहले कि डॉक्टर अपना इलाज शुरू कर पाते, टीटीई की मौत हो गई। 

इस घटना के बात मृत टीटीई के परिजनों सहित रेलकर्मियों में रेलवे अस्पताल के प्रति आक्रोश नजर आ रहा है। उनका कहना है टीटीई की मौत रेलवे अस्पताल के डॉक्टर की लापरवाही के कारण हुई है। कर्मियों का कहना है कि अस्पताल में कभी भी डॉक्टर मौजूूद नहीं होते है। घटना के बाद एनई रेलव मजदूर यूनियन की दोनो शाखाओं द्वारा रेलवे अस्पताल में शोक सभा किया गया। साथ ही घटना के विरोध में एडीएमओ/सीपीआर के खिलाफ नारेबाजी और प्रदर्शन किया गया। कर्मियों ने बताया कि एडीएमओ/सीपीआर द्वारा अपने कर्मियों के साथ किसी प्रकार का सहयोग नहीं किया जाता है। पहले एचओडी देने में आनाकानी की जाती थी, अब रेलवे अस्पताल के डॉक्टर भी इलाज से भागने लगे हैं। रेलकर्मियों ने कहा कि एडीएमओ/सीपीआर आनंद कृष्णा तिवारी अपनी ड्यूटी निभाने में पूरी तरह से नाकामयाब रहे हैं।

आज फिर हुई एक घटना, नहीं मिला इलाज

जहां रात को इलाज के अभाव में टीटीई की मौत हो गई, वहीं छपरा स्टेशन पर आज फिर एक घटना हो गई है। यहां काम करने के दौरान एक प्वाइंटमैन ऊंचाई से नीचे गिर पड़ा। जिसमें उसका एक हाथ टूट गया। आनन फानन में उसे भी रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां रात की तरह एक बार फिर से इलाज के लिए कोई डॉक्टर उपलब्ध नहीं था। जिसके बाद मरीज को सदर अस्पताल लेकर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। घायल का नाम सुरेंद्र शर्मा बताया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News