बजट में किसानों, युवाओं और गरीबों की हुई अनदेखीः उपेंद्र कुशवाहा

बजट में किसानों, युवाओं और गरीबों की हुई अनदेखीः उपेंद्र कुशवाहा

PATNA : राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार सरकार के बजट को सामान्य बताया है. उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बाद उम्मीद थी कि बिहार के विकास को ध्यान में रख कर सरकार किसानों, युवाओं और गरीबों की चिंता करती. लेकिन बजट में इन्हें नजरअंदाज किया गया है. कुशवाहा ने कहा कि कुल मिलाकर सामान्य बजट है. गरीबों व किसानों के लिए कुछ खास नहीं है. ऐसे में आखिर कैसे बिहार  विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल होगा, यह बड़ा सवाल है. कुशवाहा ने कहा कि राज्य में रोजगार के सृजन और युवाओं को राजगार मुहैया कराने पर भी जोर नहीं दिया गया है, इससे युवाओं में मायूसी होगी.

उधर बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा की  पूरा बजट झूठ का पुलिंदा पेश किया गया है. इसमें पढ़ाई, कमाई, सिंचाई और दवाई का कहीं जिक्र नहीं है. उन्होंने कहा की बजट में सात निश्चय पार्ट 2 की बात की गई है. लेकिन एक इंडस्ट्री कारखाने की बात नहीं की गई. जूट मिल, चीनी मिल किसी का भी जिक्र नहीं हुआ. फूड प्रोसेसिंग यूनिट, मकई और मखाना इन सब चीजों का कहीं चर्चा नहीं किया गया है. 

तेजस्वी यादव ने कहा की बजट के शुरुआती समय में कोरोना वायरस की बात की गई. जिसमें सिर्फ झूठ ही झूठ नजर आया. कोरोना काल में जितना भ्रष्टाचार और फर्जी डाटा के साथ सरकार ने काम किया. शायद ही देश में ऐसा काम किसी सरकार ने किया हो. 

उन्होंने कहा की  स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी लाएंगे. वह हमारे संकल्प में था. लेकिन स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी लाने की बात राजगीर में की गई. स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी पर काम महागठबंधन की सरकार में किया गया. वहीँ उन्होंने कहा की बिहार सरकार कोर्ट के आदेश के बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं देती है. बजट में पूरे तरीके से बिहार को ठगने और झूठ परोसने का काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा की पूरा बजट जुमलेबाजी है.

पटना से देबांशु प्रभात की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News