बनियान पर मैसेज लिखकर जेल के अंदर हो रहे कुव्यवस्था और अमानवीय व्यवहार की खोली पोल, बंदी ने जेल प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप

बनियान पर मैसेज लिखकर जेल के अंदर हो रहे कुव्यवस्था और अमानवीय व्यवहार की खोली पोल, बंदी ने जेल प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप

JAMUI : जमुई जिले के कारागार में बंदियों के साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता है। इसकी पोल वहां अपनी सजा काट रहे एक बंदी ने खोली है। जेल मे बंद बंदियों पर जेल अधीक्षक द्वारा किस तरह जुल्म किया जाता है। इसकी जानकारी देने के लिए उसने एक तरह के तरीके के इस्तेमाल किया है। बंदी ने अपने बनियान पर जेल में बंदियों के साथ हो रहे गलत व्यवहार की जानकारी लिखी है और इसे पहनकर बाहर निकला, बाद में यह बनियान उसने मीडिया वालों को पहुंचा दिया। अब इस पत्ररुपी बनियान के सामने आने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। 

बाहरी जांच की बताई जरुरत, नहीं मिलता ठीक से खाना

कैदी ने अपने बनियान पर लिखे चिट्ठी में जेल के अंदर की कुव्यवस्था, संवेदनहीनता और अमानवीय व्यवहार की दास्तां लिखी है। कैदियों द्वारा बताया गया है कि जेल में बाहरी जांच की सख्त जरूरत है। खाद्य सामग्री में भारी कमी की जाती है और गुणवत्ता का भी अभाव है। साफ-सफाई का अभाव और शिकायत के लिए कागज-कलम भी नहीं होती है। शिकायत करने पर मारा-पीटा जाता है। आरोप यह भी है कि जेल अधीक्षक मुलाकात नहीं करते और कैदियों से हालात के बारे में भी नहीं पूछते हैं। इस चिट्ठी को पढ़कर हर कोई हैरान है।

सारे आरोप बेबुनियाद – जेल अधीक्षक

वहीं कैदी के चिट्ठी के सामने आने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। मामले में जमुई जेल अधीक्षक अरुण पासवान ने बताया कि इस मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि लगाए गए आरोप निराधार और बेबुनियाद हैं। अभी मुलाकात बंद है और जेल के अंदर अधिक सख्ती बढ़ा दी गई है। इसके कारण कैदियों को परेशानी हो रही है।



Find Us on Facebook

Trending News