चला आया बंदूक का लाईसेंस लेने...फरियादी की शिकायत पर मुख्यमंत्री के तेवर तल्ख

चला आया बंदूक का लाईसेंस लेने...फरियादी की शिकायत पर मुख्यमंत्री के तेवर तल्ख

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दरबार शुरू है। सितंबर महीने के पहले सोमवार को सीएम नीतीश गृह विभाग, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग, निगरानी, खान भूतत्व और सामान्य प्रशासन विभाग से जुड़ी शिकायतों को सुन रहे हैं। सबसे अधिक मामले भूमि और पुलिस के आ रहे हैं। समस्तीपुर की एक लड़की ने एसटीएफ के डीएसपी पर सनसनीखेज आरोप लगाई। एक फरियादी ने सीएम नीतीश से कहा कि बंदूक के लाईसेंस को लेकर 2015 से चक्कर लगा रहे। दौड़ते-दौड़ते थक गये लेकिन बंदूक का हथियार नहीं मिला।

बंदूक का लाईसेंस दीजिए मुख्यमंत्री जी

हथियार का लाईसेंस देने को लेकर डीएम की शिकायत लेकेर पहुंचे फरियादी पर सीएम नीतीश कुमार थोड़े नाराज भी हो गए। शिकायत सुनते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि ले जाओ इसको गृह विभाग के पास. लाईसेंस के लिए डीएम के यहां आवेदन दिया जाता है। चला आया है यहां बंदूक का लाईसेंस के लिए......।

एसटीएफ डीएसपी पर गंभीर आरोप

लड़की ने सीएम नीतीश से कहा कि एटीएफ के डीएसपी अमन कुमार ने उनके साथ काफी गलत किया। डीएसपी ने उनके साथ शोषण किया और फोन पर आपत्तिजनक बातें किया करते थे। हम केस दर्ज कराने को लेकर हर जगह आवेदन दिये। लेकिन केस दर्ज नहीं किया जा रहा। हम डीजीपी के पास भी गये। लेकिन डीजीपी ने कहा कि आजकल की लड़कियां लड़कों को फंसाने का काम करती हैं। शिकायत सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने पीड़ित लड़की को गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव के पास भेज दिया। 

जेडीयू विधायक की शिकायत लेकर पहुंची महिला

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में जेडीयू विधायक की शिकायत लेकर पीड़ित महिला पहुंची। वाल्मीकिनगर से आई पीड़ित महिला का आरोप था कि जेडीयू विधायक रिंकू सिंह ने उनके पति की हत्या करवा दी। फऱवरी महीने में ही उनके पति की हत्या हुई थी। इस मामले में स्थानीय विधायक रिंकू सिंह को आरोपित किया गया था। लेकिन पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। इस शिकायत के बाद मुख्यमंत्री ने फिर से पीड़ित महिला को डीजीपी के पास भेज दिया। 

एक महिला मुखिया ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से शिकायत की। महिला मुखिया का कहना था कि उनके पति की हत्या कर दी गई। थानेदार आरोपी को खुल्लमखुल्ला बचा रहा है। अभियुक्त की गिरफ्तारी भी हुई और 17 दिनों में बेल मिल गया। अब वह शख्स धमकी दे रहा है। इस मुख्यमंत्री ने महिला मुखिया को डीजीपी के पास भेज दिया।मुंगेर से आये एक शख्स ने कहा कि अपराधियों के आतंक से परेशान हैं। हमने दुकान लूट करने वालों पर केस किया तो बदमाशों ने दो बार गोली चला दी। सीआईडी में केस चल रहा है। बेटे को पीटा गया। हम क्या करें,इस पर मुख्यमंत्री ने पीड़ित शख्स को डीजीपी के पास भेज दिया। 

Find Us on Facebook

Trending News