कैंसर की असहनीय पीड़ा संगीत से कम हो सकती है: कैलाश खेर

कैंसर की असहनीय पीड़ा संगीत से कम हो सकती है: कैलाश खेर

Patna: कैंसर हमारे समाज में एक कैंसर ही बनते जा रहा है और इसके कारण कई लोग अपनी जान गवा देते हैं. सरकार और कई NGO इसके खिलाफ काम कर रही है और लोगो में जागरूकता भी फैला रही है. कैंसर के खिलाफ जंग में ग्रामीन स्नेह फाउंडेशन भी शामिल हुआ है. ग्रामीन स्नेह फाउंडेशन एक अनोखे तरीके से लोगो में कैंसर के खिलाफ जागरूकता फैलाने वाला है.

ग्रामीन स्नेह फाउंडेशन गाने के माध्यम से लोगों में जागरूकता फैलाएगा। कल मशहूर गायक कैलाश खेर पटना पहुंचे और पटना के एक निजी होटल में किया प्रेसवार्ता। कैलाश खेर कैंसर मरीजो के इलाज के लिए ग्रामीम स्नेह फाउंडेशन के से कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। ग्रामीन स्नेह फाउंडेशन ने 6 अक्टूबर 2018 को शाम 7 बजे बापूसाभार में एक कार्यक्रम का आयोजन किया है. जिसमे कैलाश खेर अपने गाने के माध्यम से लोगों में जागरूकता फैलाया जाएगा।

कैलाश खेर से जब सवाल पूछा गया कि 'तम्बाकू बैन होने के बाद भी क्यों बिक रहा है? इसपर आपकी क्या प्रतिक्रिया है ' तो कैलाश खेर ने हमें जवाब दिया कि पहले मनुष्य को खुद में बदलाव लाना होगा और तम्बाकू खाना छोड़ना पड़ेगा तभी हम किसी नियम का पालन कर पाएंगे। इसके साथ ही गायक कैलाश खेर ने अपने आवाज़ में बताया कि कैसे Cancer पीड़ित अपने दर्द को कम कर सकते हैं.

Find Us on Facebook

Trending News