बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • सीएम नीतीश के गठबंधन बदलने पर बोले जदयू सांसद सुनील कुमार, कहा बिहार के विकास के लिए भगवान शिव की तरह विष पीते हैं मुख्यमंत्री
  • सीएम नीतीश के गठबंधन बदलने पर बोले जदयू सांसद सुनील कुमार, कहा बिहार के विकास के लिए भगवान

  • गया में यज्ञ के बहाने प्रेमिका से मिलने आये प्रेमी को ग्रामीणों ने पकड़ा, कोर्ट में परिजनों की मर्जी से कराई शादी
  • गया में यज्ञ के बहाने प्रेमिका से मिलने आये प्रेमी को ग्रामीणों ने पकड़ा, कोर्ट में परिजनों की

  • सोनपुर से शिक्षा विभाग के अधिकारी के अपहरण के मामले में पुलिस ने पांच अभियुक्तों को किया गिरफ्तार, लूटा गया मोबाइल एवं लैपटॉप किया बरामद
  • सोनपुर से शिक्षा विभाग के अधिकारी के अपहरण के मामले में पुलिस ने पांच अभियुक्तों को किया गिरफ्तार,

  • खगड़िया पुलिस दो लूटकांड के साथ डकैती कांड का किया खुलासा, दो बदमाशों को हथियार के साथ किया गिरफ्तार
  • खगड़िया पुलिस दो लूटकांड के साथ डकैती कांड का किया खुलासा, दो बदमाशों को हथियार के साथ किया

  • बिहार के लाल जफर अली ने किया कमाल,  UibffIndia गेम में एशिया ब्रॉन्ज विनर का जीता खिताब
  • बिहार के लाल जफर अली ने किया कमाल, UibffIndia गेम में एशिया ब्रॉन्ज विनर का जीता खिताब

  • पांच साल में कस्टडी रेप के दर्ज हुए 270 मामले, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा हुआ हिरासत में बलात्कार
  • पांच साल में कस्टडी रेप के दर्ज हुए 270 मामले, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा हुआ हिरासत

  • अभी बच्चा हैं तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष पर डिप्टी सीएम का बड़ा हमला, खिलौनी से खेलने दीजिए
  • अभी बच्चा हैं तेजस्वी यादव, नेता प्रतिपक्ष पर डिप्टी सीएम का बड़ा हमला, खिलौनी से खेलने दीजिए

  • मुंगेर में दो युवकों से इश्क करना महिला को पड़ा महंगा, एक ने की दुसरे प्रेमी की दीवार से गिराकर हत्या, पुलिस ने दो को हिरासत में लिया
  • मुंगेर में दो युवकों से इश्क करना महिला को पड़ा महंगा, एक ने की दुसरे प्रेमी की दीवार

  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए पूरी सूची
  • लोकसभा चुनाव के पहले लखीसराय में कई थानों के बदले गए थानाध्यक्ष, नव पदस्थापित पुलिस अधिकारियों की देखिए

  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप
  • मुजफ्फरपुर में तालाब से युवक का शव पुलिस ने किया बरामद, इलाके में मचा हड़कंप

चुनौती! 'रामचरितमानस' पर की गई टिप्पणी पर कायम हैं शिक्षा मंत्री...सदन में कई ग्रंथ लेकर पहुंचे थे चंद्रशेखऱ, टुकुर-टुकुर देखते रह गए JDU कोटे के मंत्री

चुनौती! 'रामचरितमानस' पर की गई टिप्पणी पर कायम हैं शिक्षा मंत्री...सदन में कई ग्रंथ लेकर पहुंचे थे चंद्रशेखऱ, टुकुर-टुकुर देखते रह गए JDU कोटे के मंत्री

PATNA: बिहार विधानसभा में आज शिक्षा बजट पर चर्चा हुई। सरकार की तरफ से शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने जवाब दिया. शिक्षा मंत्री सदन में रामचरित मानस से लेकर मनु स्मृति समेत अन्य पुस्तक लेकर पहुंचे थे. बिहार में शिक्षा का विकास कैसे हो, इस पर उनका फोकस कम रामचरितमानस को लेकर की गई टिप्पणी को सही करने पर ज्यादा पसीना बहा रहे थे. सबसे आश्चर्यजनक बात यह कि शिक्षा मंत्री धार्मिक ग्रंथ रामचरितमानस के दोहा पर सवाल खड़े कर रहे थे और इस मुद्दे पर विरोध करने व मंत्री से माफी मांगने की मांग करने वाले जेडीयू कोटे के मंत्री टुकुर-टुकुर देखते रह गए। शिक्षा मंत्री ने एक बार फिर से रामचरित मानस में लिखी पक्ति को गलत करार दे दिया. इस तरह से शिक्षा मंत्री ने धार्मिक ग्र्ंथों पर बोलने से मना करने वाले अपने मुख्यमंत्री को भी खुली चुनौती दे दी. 

शिक्षा बजट में मानस की चर्चा 

विधानसभा में सरकार की तरफ से शिक्षा मंत्री शिक्षा बजट पर अपनी बात रख रहे थे. वे रामचरितमानस पर की गई अपनी टिप्पणी को सही साबित करने को लेकर पूरा होमवर्क कर आए थे. वे शिक्षा पर जवाब देने को लेकर तैयारी कर आए हों या नहीं लेकिन विवादास्पद बात पर कायम रहने को लेकर पूरी प्लानिंग करी थी. वे रामायण, रामचरितमानस लेकर मनुस्मिति की किताब लेकर पहुंचे थे. वे धार्मिक ग्रंथ को पहले से ही वहां रखे हुए थे. बोलने के दौरान उन्होंने एक-एक कर धार्मिक पुस्तक को उठाकर पढ़ने लगे. इस दौरान उनके बगल में बैठे वरिष्ठ मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव व विजय चौधरी टुकुर-टुकुर देखते रह गए। विजय चौधरी तो मुस्कुरा रहे थे. 

सदन में बोलते हुए शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने कहा कि मैं कथित विवादास्पद बातों पर कोई टिप्पणी नहीं कर रहा हूं. विपक्षी सदस्य रामचरितमानस पर हमारे द्वारा उठाई बातों पर वाकआउट किए हैं. मेरी चुनौती है, वो अंदर आएं. मेरे पास दस्तावेज है. मेरे पास पूरा दस्तावेज है. 50 वर्ष पुरानी पुस्तक रामचरितमानस है. गीता प्रेस का, मैं पूरी सच्चाई के साथ बात को समाज के सामने लाना चाहता हूं. इसके पेज नंबर 855 पर लिखा है... तारना. हम आपके संज्ञान में देता हूं. आप इसे देख लेंगे. इसमें ताड़ना का अर्थ लिखा हुआ है दंत. यह मैंने नहीं लिखा. यह 50 साल पुराना ग्रंथ है. हमें इसे सहेज कर रखा हूं, वरना मिट गया तो यह षड्यंत्रकारी लोग इसको भी झूठ कह देंगे. आज के एडिशन में ताड़ना में किसने जोड़ा है. यह यक्ष प्रश्न इस दुनिया के सामने है. दूसरा दस्तावेज मनुस्मृति है. इसमें भी बहुत सारी बातें लिखी गई हैं. इस तरह से शिक्षा मंत्री ने एक-एक कर कई धार्मिक पुस्तक के माध्यम से सफाई दी.

शिक्षा मंत्री ने मानस को नफरत फैलाना वाला ग्रंथ बताया था

बता दें, चंद्रशेखर ने पटना में एक दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए रामचरितमानस की कुछ चौपाइयों का हवाला देते हुए उसे नफ़रत फैलाने वाला ग्रंथ बताया था. इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के रामचरितमानस पर दिए बयान पर नारजगी जताई थी. उन्होंने कहा था "हम लोगों का मानना है कि किसी भी धर्म के मामले में कोई विवाद नहीं करना चाहिए. लोग जिस तरह के धर्म का पालन करते हैं, धर्म का पालन करें. इस पर किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए