जेईई मेन परीक्षा 2023 में बदलाव, 12वीं में 75 फीसदी अंक अनिवार्य वाला नियम फिर लागू

जेईई मेन परीक्षा 2023 में बदलाव, 12वीं में 75 फीसदी अंक अनिवार्य वाला नियम फिर लागू

Desk. जेईई मेन के लिए फिर 12वीं में 75 फीसदी अंक वाले नियम को लागू कर दिया गया है। यह नियम 2023 से लागू किया गया। बता दें कि कोरोना काल के दौरान इस नियम को हटा दिया गया था। कोरोना से पहले आईआईआईटी, एनआईआई व सीएफटीआई संस्थानों में नामांकन के लिए 12वीं में कम से कम 75 फीसदी अंक लाना अनिवार्य हुआ करता था। जेईई मेन की परीक्ष में यह बदलाव नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने किया है।

सेंट्रल सीट अलोकशन बोर्ड (सीसैब) के जरिए एनआईटी, आईआईआईटी और सीएफटीआई संस्थानों के बीई, बीटेक, बीआर्क, बीप्लानिंग कोर्स में दाखिले ऑल इंडिया पर बेस्ड होंगे। लेकिन इसमें 12वीं में कम से कम 75 फीसदी मार्क्स की भी शर्त होगी। एससी व एसटी वर्ग के छात्रों के लिए यह न्यूनतम मार्क्स 65 फीसदी रखे गए हैं।

एनटीए ने इस बार पुरुष उम्मीदवारों के लिए रजिस्ट्रेशन फीस 650 रुपये से बढ़ाकर 1,000 रुपये कर दी है, जबकि महिला उम्मीदवारों को 800 रुपये का भुगतान करना होगा। इससे पहले, एससी, एसटी, पीडब्ल्यूडी, ट्रांसजेंडर को 325 रुपये का भुगतान करना पड़ता था। अब एससी, एसटी और पीडब्ल्यूड और थर्ड जेंडर के उम्मीदवारों को बीई, बीटेक, बीआर्क और बी प्लानिंग के पेपर के लिए 500 रुपये क भुगतान करना होगा। 

वहीं भारत से बाहर के उम्मीदवारों के लिए भी जेईई मेन 2023 का आवेदन शुल्क बढ़ दिया गया है। परीक्षा में शामिल होने वाले पुरुष उम्मीदवारों को 5,000 रुपये और महिला उम्मीदवारों को 4,000 रुपये का भुगतान करना होगा। इससे पहले, भारत के बाहर के आवेदकों के लिए शुल्क क्रमशः पुरुष और महिला उम्मीदवारों के लिए 3,000 रुपये और 1,500 रुपये था।


Find Us on Facebook

Trending News