चाइल्ड लाइन मधुबनी के सहयोग से पुलिस ने बंधक बच्ची को कराया मुक्त, अस्पताल में चल रहा इलाज

चाइल्ड लाइन मधुबनी के सहयोग से पुलिस ने बंधक बच्ची को कराया मुक्त, अस्पताल में चल रहा इलाज

मधुबनी... जिले के नगर थाना क्षेत्र में एक बाल मजदूरी कर रही बच्ची को बंधक बनाकर प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है। चाइल्ड लाइन मधुबनी के सहयोग से पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बंधक बच्ची को मुक्त करा लिया है। वहीं बच्ची की शरीर पर जगह-जगह  चोट आने के कारण सदर अस्प्ताल में भर्ती कराया गया है। मधुबनी नगर थाना क्षेत्र की नूनिया टोला वार्ड नंबर 20 का मामला बताया जा रहा है। इस घटना के बाद से इलाके के लोग सकते में आ गए हैं।

चाइल्ड लाइन, मधुबनी से मिली जानकारी के मुताबिक नूनिया टोला वार्ड 20 में एक बच्ची के बंधक बनाकर उससे घर में बाल मजदूरी कराया जा रहा था। बच्ची को कुछ दिन पहले दरभंगा से लाया गया था और उसे घर में सभी प्रकार के काम लिए जा रहे थे। इतना ही नहीं काम नहीं करने पर उसे तरह-तरह की यातनाएं भी दी जा रही थी। वहीं गरीबी के कारण उसके माता-पिता ने उसे मधुबनी निवासी एक महिला के हवाले कर दिया था। 

जानकारी के मुताबिक बच्ची के माता-पिता गरीब हैं और बच्ची का भरण पोषण करने में सक्षम नहीं थे। वो मूल रूप से नेपाल के काठमांडू के रहने वाले हैं और बच्ची के पिता दरभंगा में चौकीदारी का काम करते हैं। इस बीच जब चाइल्ड लाइन मधुबनी के सदस्यों को ये पता चला कि बच्ची को प्रताड़ित किया जा रहा है तो नगर थाना से संपर्क किया गया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक महिला और पुरुष को गिरफ्तार भी कर लिया है। 


नगर थाना से संपर्क करने के बाद चाइल्ड लाइन मधुबनी में नूनिया टोला जाकर बच्ची का रेस्क्यू कराया। इस दौरान बच्ची की हालत गंभीर पाई गई। चाइल्ड लाइन वालों ने बताया कि पहले इसकी सूचना सदर थाना डीएसपी प्रभाकर तिवारी को जानकारी दी। इसके बाद डीएसपी के आदेश पर नगर थाना प्रभारी धर्मपाल ने अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंच कर बच्ची को बंधक से छुड़ाया गया है। 

इसके बाद बच्ची की दशा को देखते हुए उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बच्ची की शरीर पर कई जगह चोटें आई हुई हैं। इतना ही नहीं बच्ची के शररी को गर्म सलाखों से भी कई जगह जलाया गया है। फिलहाल  बच्ची अभी भी अस्पातल में है और बाल कल्याण समिति की देखरेख में है। 


Find Us on Facebook

Trending News