कांग्रेस के भविष्य की चिंता को दूर करने के लिए आज से शुरू होगा चिंतन शिविर, आम आदमी बनकर ट्रेन से दिल्ली से उदयपुर पहुंचे राहुल गांधी

कांग्रेस के भविष्य की चिंता को दूर करने के लिए आज से शुरू होगा चिंतन शिविर, आम आदमी बनकर ट्रेन से दिल्ली से उदयपुर पहुंचे राहुल गांधी

DESK. राजनीतिक और संगठनात्मक मोर्चों पर चुनौतियों का सामना कर रही कांग्रेस अब अपने भविष्य को संवारने और आगे की रणनीति तैयार करने के लिए उदयपुर में शुक्रवार से तीन दिवसीय चिंतन शिविर आयोजित कर रही है. चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली से उदयपुर का रेल सफर किया. इस शिविर में कई बड़े निर्णय हो सकते हैं. इसमें राहुल गांधी की फिर से अध्यक्ष के पद पर ताजपोशी को लेकर भी बड़ी घोषणा हो सकती है. चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए प्रियंका गांधी फ्लाइट से उदयपुर पहुंची. 

वहीं राहुल गुरुवार रात ट्रेन में सवार हुए और शुक्रवार सुबह उदयपुर पहुंचे. राहुल के साथ कई नेता भी ट्रेन से उदयपुर पहुंचे जो वहां से बस में सवार होकर गंतव्य के लिए गए. राहुल का स्वागत करने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई अन्य नेता उपस्थित रहे. 15 मई तक तीन दिन चलने वाले इस शिविर में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस के तमाम बड़े नेता शामिल होंगे. नव संकल्प चिंतन शिविर के तीनों दिन विभिन्न सत्रों में कई नेता संबोधन करेंगे. 

कांग्रेस का यह चिंतन शिविर कई मायनों में बेहद खास हो सकता है. पार्टी इसमें अपने जनाधार को मजबूत करने और संगठन को सशक्त करने के लिए पार्टी नेतृत्व, नीतियां, संगठन विस्तार आदि पर मंथन करेगी. हालाँकि मुख्य रूप से कांगेस अध्यक्ष के चयन को लेकर पार्टी कोई बड़ा निर्णय ले सकती है. इसमें गांधी परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को अध्यक्ष का जिम्मा सौंपने के विकल्प पर भी चर्चा हो सकती है. 

वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार के बाद से पार्टी चुनाव दर चुनाव बेहद औसत प्रदर्शन कर पाई है. ऐसे में इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव और अगले साल होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी किसी बड़े निर्णय की ओर बढ़ सकती है. चिंतन शिविर में पार्टी के देश भर से नेता शामिल हो रहे हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News