चिराग पासवान ने बताया नीतीश कुमार को नेता नहीं मानने की वजह,कहा-भाजपा-लोजपा का है मजबूत गठबंधन

चिराग पासवान ने बताया नीतीश कुमार को नेता नहीं मानने की वजह,कहा-भाजपा-लोजपा का है मजबूत गठबंधन

PATNA : बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद अब एनडीए टूट गया है।लोजपा ने नीतीश कुमार को नेता मानने से इनकार कर दिया है और खिलाफ में उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया है।लोजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में यह अहम फैसले लिए गए. पार्टी ने नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ने का फ़ैसला लिया गया है। साथ ही लोजपा भाजपा सरकार का प्रस्ताव भी पारित किया गया है। लोक जनशक्ति पार्टी केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक में सभी सदस्य मौजूद रहे. 

चिराग पासवान का ऐलान

कोरोना व ऑपरेशन के कारण पशुपती पारस व कैसर वी॰सी॰ के माध्यम से जुड़े। लोजपा के सभी विधायक पीएम मोदी को और मज़बूत करेंगे। एक साल से बिहार1st बिहारी1st के माध्यम से उठाए गए मुद्दों पर लोजपा पीछे हटने को तैयार नहीं। लोजपा ने स्पष्ट कर दिया है कि राष्ट्रीय स्तर व लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी, लोक जनशक्ति पार्टी का मजबूत गठबंधन है। प्रदेश स्तर पर व विधानसभा चुनाव में गठबंधन में मौजूद जनता दल(यूनाइटेड) से वैचारिक मतभेदों के कारण बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी ने गठबंधन से अलग चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। कई सीटों पर जे0डी0यू0 के साथ वैचारिक लड़ाई हो सकती है ताकि उन सीटों पर जनता निर्णय कर सके कौंन सा प्रत्याशी बिहार के हित में बेहतर है। 

लोक जनशक्ति पार्टी बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन डाॅक्यूमेंट लागू करना चाहती थी जिस पर समय रहते सहमति नहीं बन पायी। लोकसभा में हमारा भाजपा के साथ एक मजबूत गठबंधन है। लोजपा का मानना है कि केन्द्र की तर्ज पर बिहार में भी भाजपा के नेतृत्व में सरकार बनें। लोजपा का हर विधायक भाजपा के नेतृत्व में बिहार को फर्स्ट बनाने का काम करेंगे।

143 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी

लोजपा सूत्रों के मुताबिक लोजपा 143 पर चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रही है. लोजपा सूत्रों का कहना है कि कई सीटों पर एनडीए में फ्रेंडली फाइट होने होने की बात कही जा रही है. इसके साथ ही चुनाव जीतने के बाद लोजपा के सभी विधायक बीजेपी को समर्थन देंगे. इसके साथ ही लोक जनशक्ति पार्टी ने बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विजन डाॅक्यूमेंट तैयार किया है जिसे अगली सरकार बनने पर लागू करने पर सहमति बनी है।

चिराग पासवान जदयू के चुनौती देने के लिए 143 सीटों पर उम्मीदवार उतारने वाले फॉर्मूले पर ही आगे बढ़ें हैं.गौरतलब है कि लोजपा चीफ चिराग पासवान और जदयू की बीच चल रही खींचतान किसी से छिपी नहीं है. सीट बंटवारे को लेकर जदयू ने पहले ही यह कह दिया था कि वो लोजपा से कोई बात नहीं करना चाहती है और बीजेपी इस मामले को देखे. आज एनडीए सीट शेयरिंग को लेकर ऐलान कर सकती है. इस बीच लोजपा सूत्रों की तरफ से आ रही ये खबर एनडीए के दिशा और दशा पर सवाल उठाती

Find Us on Facebook

Trending News