चिराग पासवान की मीटिंग खत्म लेकिन सस्पेंस बरकरार, जानिए क्या हुआ आपात बैठक के दौरान.....

चिराग पासवान की मीटिंग खत्म लेकिन सस्पेंस बरकरार, जानिए क्या हुआ आपात बैठक के दौरान.....

PATNA: बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनावी साल में बिहारी की सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के दो घटक दल आमने-सामने हैं. सरकार का नेतृत्व कर रही जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के बीच बयानों के तीर चल रहे हैं. एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से खफा हैं. चिराग ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर नीतीश कुमार की शिकायत की है.

बहुत जल्द संसदीय बोर्ड की बुलाई जाएगी बैठक

लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान शुक्रवार की शाम पटना पहुंचे और आज पार्टी कार्यालय में लोजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ गुप्त बैठक की।चिराग ने बैठक में अपने नेताओं के साथ वर्तमान राजनीतिक हालात और जेडीयू के साथ रिश्तों पर चर्चा की। चिराग पासवान ने नेताओं से उनकी राय मांगी और आगे की रणनीति पर बात हुई।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चिराग पासवान ने कहा कि बहुत जल्द पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाई जाएगी उसी बैठक में तय होगा कि आगे क्या करना है।चिराग पासवान ने आज की बैठक में कोरोना और बिहार में बाढ़ की स्थिति पर भी चर्चा की । जानकारी मिली है कि चिराग पासवान से अपने वरिष्ठ नेताओं को आगे किसी भी निर्णय के लिए तैयार रहने को कहा है।

जेडीयू ने चिराग को बताया था कालिदास

बता दें कि चिराग पासवान बिहार की नाकामियों को लगातार उठाते रहे हैं।वे कई ऐसे मुद्दे उटाए जिससे नीतीश सरकार परेशानी हो गई।कोरोना जांच को लेकर चिराग पासवान के सवाल पर सीएम नीतीश सीधे बिफर गए और अपने सबसे करीबी सांसद ललन सिंह को मैदान में उतार दिया था।ललन सिंह ने चिराग पासवान पर सीधा वार करते हुए कहा था कि वे कालिदास हैं,जिस डाली पर बैठे हैं उसी को काट रहे हैं।इसके बाद जेडीयू-एलजेपी के बीच जारी विवाद और भी बढ़ गया है।

Find Us on Facebook

Trending News