CM ने प्र.सचिव को फोन कर कहा, कोई पैसा-तैसा मांग रहा है, हमारे यहां शिकायत किया तो धमकी देने पहुंच गया, तुरंत एक्शन लीजिए

CM ने प्र.सचिव को फोन कर कहा, कोई पैसा-तैसा मांग रहा है, हमारे यहां शिकायत किया तो धमकी देने पहुंच गया, तुरंत एक्शन लीजिए

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दरबार चल रहा है। सीएम नीतीश आज खाद्य आपूर्ति,समाज कल्याण,कृषि,नगर विकास,लघु सिचाई,पंचायती राज समेत अन्य विभागों की समस्या को सुन रहे हैं। सीएम नीतीश शिकायत सुन अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे। भभुआ से आये एक शख्स ने सीएम नीतीश से शिकायत की। शख्स ने सीएम नीतीश से कहा कि भभुआ नगर परिषद में करोड़ों का घोटाला हुआ। डीएम के आदेश पर जांच हुई। जांच रिपोर्ट नगर विकास विभाग को भेज दी गई। फिर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। सुपौल का एक व्यक्ति 325 मीटर सड़क बनवाने को लेकर सीएम नीतीश के जनता दरबार में फरियाद की। वहीं मुजफ्फरपुर से आये एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से कहा कि आवास योजना में भारी धांधली की जा रही है। जब हमने सीएम के जनता दरबार में आवेदन दिया तो जान से मारने की धमकी दी । यह शिकायत सुनने के बाद सीएम नीतीश गुस्से में आ गये।

तुरंत एक्शन लीजिए-सीएम

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शिकायत सुनने के बाद तुरंत ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव को फोन किया। फोन कर मुख्यमंत्री ने कहा कि आप इसे देखिए....पैसा-तैसा मांग रहा है। इस व्यक्ति ने मुख्यमंत्री के दरबार में शिकायत किया तो वो शख्स धमकी देने घर पहुंच गया। इस मामले को देखिए और तुंरत एक्शन लीजिए। 



सीएम नीतीश ने प्रधान सचिव को किया फोन

सुपौल से आये शख्स ने सीएम नीतीश से कहा कि 325 मीटर सड़क को छोड़ दिया गया। बाकी का 750मीटर सड़क बनाया गया। पूछने पर नगर विकास विभाग और पथ निर्माण विभाग एक-दूसरे पर थोप रहे हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव को फोन कर इस मामले को तुरंत देखने को कहा। 

भभुआ नगर परिषद की खुली पोल

शिकायतकर्ता ने सीएम नीतीश से कहा कि भभुआ नगर परिषद में बड़ा घोटाला है। इस पर आप कार्रवाई कीजिए। नगर विकास विभाग इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं करेगा। आप निगरानी विभाग से जांच कराइए। इस मुख्यमंत्री ने कहा कि तुंरत कार्रवाई होगी। आप नगर विकास विकास के अधिकारियों को जाकर बताइए। जरूरत पड़ी तो निगरानी जांच भी होगी। 

महिला ने सीएम नीतीश से की फरियाद

 एक महिला ने पीडीएस डीलर लाईसेंस को लेकर सीएम नीतीश को आवेदन दिया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने आवेदन को पढ़कर कहा-ये कहां गए....। इसके बाद तुरंत मुख्य मंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार पहुंचे। फिर उस महिला के आवेदन को खाद्य आपूर्ति विभाग के पास भेजा गया.

Find Us on Facebook

Trending News