सीएम नीतीश के गृह जिले तक भी नहीं पहुंचा सुशासन, शौचालय में पोती संग रहने को मजबूर है महिला

सीएम नीतीश के गृह जिले तक भी नहीं पहुंचा सुशासन, शौचालय में पोती संग रहने को मजबूर है महिला

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालन्दा के करायपरसुराय प्रखण्ड मकरौता पंचायत के गांव दिरीपर वार्ड न0 3  एक ऐसा मामला सामने आया है जो उनके सिस्टम पर ऊगली उठ रहा है। पास के ही गांव में विधायक कृष्ण मुरारी शरण का घर है। कौशल्या देवी और उनकी पोती दोनों शौचालय में रहकर अपना जीवन यापन कर रही है। कौशल्या देवी को इस दुनिया में कोई देखने वाला नहीं है और न ही उसे किसी भी प्रकार का सरकारी लाभ ही मिल रहा है।।

दादी पोती शौचालय में रहने के लिए मजबूर है। उसका यही ठिकाना है। 10 साल की पोती के सर पर से माता पिता का साया पहले ही उठ चुका है । लाचार दोनों दादी पोती अपने गांव में घर घर मांग मांग कर जीवन यापन कर रही है । कौशल्या देवी और उनकी पोती सपना कुमारी ने बताया परिवार के कमाऊ सदस्य के नहीं रहने के कारण मजबूरन भीख मांग कर किसी तरह से तो जिंदगी काट रही है।  धूप और पानी से बचने के लिए महिला शौचालय में रहकर अपना जीवन यापन कर रही है। उसने शौचालय को ही अपना आशियाना बना लिया है।  

सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि आशियाना की तो दूर की बात, कोई सरकारी योजना का लाभ भी नहीं मिल पाता है। ताकि वह अच्छी तरह से जिंदगी जी सके। पूछने पर वृद्धा ने बताया उनका पति,बेटा,बहु दुनिया छोड़ चुके हैं। उनको अब कोई देखने वाला और कोई सरकारी  योजना का लाभ देनेवाला उसे नहीं मिला है. इधर-उधर भीख मांग कर अपना किसी तरह काम चलाती है और इसी शौचालय में रहकर गुजर-बसर करती है।

नालंदा से राज की रिपोर्ट


 

Find Us on Facebook

Trending News