सीएम नीतीश इन दस जिले के प्रखण्ड स्तर के क्वारंटीन सेंटरों की करेंगे आज समीक्षा,जानेंगे प्रवासी मजदूरों का हाल

सीएम नीतीश इन दस जिले के प्रखण्ड स्तर के क्वारंटीन सेंटरों की करेंगे आज समीक्षा,जानेंगे प्रवासी मजदूरों का हाल

पटना :  बिहार में प्रवासी मजदूरों का आना लगातार जारी है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से लगातार बाहर रह रहे बिहारी मजदूर प्रतिदिन अपने घर वापस लौट रहे हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लौट रहे प्रवासी मजदूरों को  क्वारंटीन सेंटरों में पहले पहले रखा जा रहा है ।उसके उपरांत उनके स्वास्थ्य की जांच भी की जा रही है।तत्पश्चात उन्हें घर भेजा जा रहा है। आए दिन क्वॉरेंटाइन सेंटरों में हंगामा की भी खबरें सामने आ रही है ।इसी बीच सीएम नीतीश कुमार ने प्रखंड स्तर के क्वारंटीन सेंटरों का समीक्षा करने का निर्णय लिया है।

दस जिलों के प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की करेंगे समीक्षा
सीएम नीतीश कुमार आज 10 जिलों के प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा करेंगे। यह 10 जिले इस प्रकार हैं ।पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, पूर्णिया ,गया ,बेगूसराय, रोहतास, मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी और शिवहर।इन सभी जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है की संबंधित जिले के जिलाधिकारी प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा हेतु  लैपटॉप और इंटरनेट कनेक्शन की व्यवस्था सुनिश्चित करें ताकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सीएम नीतीश कुमार प्रखंड स्तरीय क्वारंटीन सेंटरों की समीक्षा कर सकें।

क्वारंटीन सेंटरों पर आये दिन मच रहा है बवाल
गौरतलब है कि प्रतिदिन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से बिहार लौट रहे प्रवासी मजदूरों को प्रखंड स्तर पर बने क्वारंटीन सेंटरो में रखा जा रहा है । क्वारनटीन सेंटरों में ही उनके रहने खाने की व्यवस्था भी की जा रही है। इतना ही नहीं क्वारनटीन सेंटरों में में आ रहे प्रवासी मजदूरों को डिग्निटी किट भी दिया जा रहा है। जिसमें लुंगी, गंजी, गमछा, मछरदानी, बाल्टी, साबुन ,शैंपू ,तेल ,सहित दैनिक जीवन मे काम आने वाली चीजें  उपलब्ध रहती हैं। लेकिन विगत दिनों से यह देखा जा रहा है की  सेंटरों में सुविधाओं की उपलब्धता और खाने को लेकर प्रवासी मजदूर बवाल काट रहे हैं। इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्णय लिया है कि आज 10 जिलों में प्रखंड स्तर पर स्थित क्वारनटीन सेंटरों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा करेंगे। इस दौरान जिला पदाधिकारी समेत तमाम नोडल अधिकारियों को भी रहने का निर्देश दिया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News