CM नीतीश ने PM मोदी और RSS का उड़ाया मजाक, कहा- नए भारत के नए पिता, क्या किये हैं भारत के लिए ?

CM नीतीश ने PM मोदी और RSS का उड़ाया मजाक, कहा- नए भारत के नए पिता, क्या किये हैं भारत के लिए ?

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिना नाम लिए पीएम मोदी और आरएसएस पर बड़ा हमला किया। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन में आरएसएस की क्या भूमिका थी ? आजकल आधुनिक भारत के नये पिता की चर्चा हो रही है. अखबारों में छप रहा है। नीतीश कुमार ने पीएम मोदी का नाम लिए बिना कहा कि आजकल नए भारत के नये पिता की चर्चा हो रही है. क्या किये हैं वे देश के लिए ? कुछ काम किये हैं,कहां भारत आगे बढ़ा है, कौन सा काम हुआ है ? नई टेक्नोलॉजी जो आ गई है उसका जबरदस्ती रूप से उपयोग कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनको आजादी की लड़ाई से मतलब नहीं था, आरएसएस को आजादी की लड़ाई से मतलब था क्या, हमारे पिता आजादी की लड़ाई में शामिल थे, वे हमें एक एक बात बताते थे. बापू का योगदान को भूला जा सकता है क्या. लेकिन कुछ लोग आजकर अपने आप को सच्चा देशभक्त बताने पर तुले हैं. 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज राजधानी के ज्ञान भवन में आयोजित नियुक्ति पत्र वितरण समारोह में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने अपनी कामों को एक-एक गिनाया। उन्होंने कहा कि शिक्षकों एवं अन्य पदों पर बड़े पैमाने पर बहाली होने वाली है. शिक्षा मंत्री जी बता रहे थे कि बजट बढ़ाने वाले हैं. 2022-23 में शिक्षा पर 51000 करोड़ रुपया खर्च कर रहे हैं. इसको हम लोग और बढ़ाना चाहते हैं. शिक्षक लोग हमसे नाराज हैं, उसको पता ही नहीं है कि बहाली करा दिया पंचायत और नगर निकायों के माध्यम से. वे लोग पढ़ाते रहे हम लोग वेतन और आगे बढ़ाते चले जाएंगे. शिक्षक बच्चे बच्चियों को पढ़ाने में रुचि रखें. आखिर शिक्षक का काम ही क्या है, बताइए तो. बालिका शिक्षा के लिए हमने क्या-क्या नहीं किया. हम तो चाहते हैं कि बहाली तेजी से हो.

नीतीश कुमार ने कहा कि आजकल देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग चल रही है। आजकल बहुत लोग कह रहा है देश में प्रतिबंध कर देना चाहिए कि कोई दो से अधिक बच्चा पैदा ना कर सके . यह सब अनाप-शनाप बात क्यों करते हो, इसका कोई मतलब नहीं है. लड़कियां पढ़ लेगी तो अपने आप जनसंख्या नियंत्रित हो जायेगा. इन सब चीजों को करने से कोई फायदा नहीं. हम लोग तो शिक्षा के क्षेत्र में लगातार काम कर रहे हैं. हम एक-एक काम करवा रहे हैं.मुख्यमंत्री ने कहा कि हम जब पटना इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ते थे तो एक भी लड़की नहीं पड़ती थी, कितना खराब लगता था. कॉलेज में अगर कोई महिला आती थी तो सब लोग खड़ा होकर महिला देखने लगता था. प्रोफ़ेसर सब भी देखने लगते थे. लेकिन अब क्या हालत है, कितनी महिलाएं पढ़ने लगी हैं.

सीएम नीतीश ने अपनी प्रस्तावित बिहार यात्रा पर कहा कि हम 5 तारीख से एक महीना तक लगातार चक्कर लगाएंगे. जाकर देखेंगे कि लोगों की शिकायत और समस्या क्या है, सब देखें,गे यह नहीं है कि हम ऐसे ही चले जाएंगे और भाषण देंगे कि हमने यह काम कर दिया वह कर दिया. हम यह करने नहीं जा रहे हैं. यह सब बहुत हो चुका.एक बार हम फिर से देखेंगे कि ठीक से काम हुआ या नहीं, हर चीज को मेंटेन है या नहीं, इस पर मेरा खास फोकस होगा .हर घर नल का जल, सड़क, बिजली, स्कूल, भवन इन तमाम चीजों को देखेंगे . कहीं कोई दिक्कत तो नहीं है, गरीब गुरबों के लिए जो हमने काम किया है इसको भी हम देखेंगे. इन सब चीजों को देखेंगे, इसके बाद और जो काम करना होगा करेंगे. मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि आजकल जो केंद्र की सरकार है वह सिर्फ प्रचार ही करती है. मीडिया में दिल्ली का एकतरफा बिना मतलब का चीज छपते रहता है.


Find Us on Facebook

Trending News