लॉ एंड ऑर्डर पर 'भद्द' पिटने के बाद CM नीतीश का फरमान, कोई किसी भी दल का हो...कितना भी बड़ा आदमी क्यों न हो उस पर एक्शन लें..

लॉ एंड ऑर्डर पर 'भद्द' पिटने के बाद CM नीतीश का फरमान, कोई किसी भी दल का हो...कितना भी बड़ा आदमी क्यों न हो उस पर एक्शन लें..

PATNA: बिहार में बढ़ते अपराध से आम लोग भयाक्रांत हैं। राजधानी पटना समेत पूरे बिहार में अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। पटना में भी अपराधियों ने पुलिस को खुली चुनौती देकर सुशासन को कटघरे में खड़ा कर दिया है। लगातार हो रहे क्राइम के मद्देनजर सीएम नीतीश ने आज हाईलेवल मीटिंग बुलाई थी। मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को  हिदायत दिया, लॉ-एंड ऑर्डर सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। पटना में शराब पीने वालों पर सख्ती बरतें। सीएम ने साफ कहा कि चाहे वो किसी भी दल का हो, परिवार का हो, अगर शराब पीते पकड़ा जाता है तो उसे जेल भेजें। नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा कि बिहार में एक लाख की जनसंख्या पर डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों की तैनाती को लेकर काम करें। 

गश्ती का औचक निरीक्षण करें वरीय अधिकारी 

लॉ एंड ऑर्डर पर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में सीएम नीतीश ने यह आदेश दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि विधि व्यवस्था व शराबबंदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है. अपराध नियंत्रण में किसी प्रकार की कोताही न हो. अपराध अनुसंधान में तेजी लाएं ताकि दोषियों पर जल्द कार्रवाई हो सके. यह सुनिश्चित करें कि सभी थानों में लैंडलाइन फोन चालू रहे. रात्रि गश्ती पैदल गश्ती में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी. वरीय पुलिस अधिकारी गश्ती का औचक निरीक्षण करें. प्रति एक लाख जनसंख्या पर कम से कम डेढ़ सौ की संख्या में पुलिस बल की तैनाती हो. इसको लेकर काम करें, पुलिस बल की ट्रेनिंग पर विशेष ध्यान दें. 


कानून की नजर में सब बराबर 

सीएम नीतीश ने लैंड सर्वे एवं सेटलमेंट का काम तेजी से करने पर जोर दिया है ताकि अपराध में कमी आए. भूमि विवाद खत्म करने के लिए महीने में एक बार जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक बैठक करने को कहा है। उन्होंने कहा कि गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक तथा मद्य निषेध के अपर मुख्य सचिव सप्ताह में 1 दिन बैठक करें ताकि समस्या का समाधान हो. मुख्यमंत्री ने पटना में शराबियों पर विशेष नजर रखने को कहा है. गड़बड़ी करने वालों को चिन्हित कर कार्रवाई करने को कहा गया है. मुख्यमंत्री ने राजधानी पटना में शराबबंदी के विशेष नजर रखने की हिदायत दी है. साथ ही कहा कि कोई कितना भी बड़ा आदमी क्यों न हो, किसी भी दल का हो, किसी परिवार का हो, अगर शराब पीते पकड़े जाता है तो उन्हें छोड़े नहीं. कानून की नजर में सब बराबर हैं.

Find Us on Facebook

Trending News