उड़ीसा की निष्फल यात्रा से सीख लें CM नीतीश ! नेता प्रतिपक्ष ने कर दी भविष्यवाणी- महाराष्ट्र दौरे का हश्र भी उड़ीसा जैसा ही होगा

उड़ीसा की निष्फल यात्रा से सीख लें CM नीतीश ! नेता प्रतिपक्ष ने कर दी भविष्यवाणी- महाराष्ट्र दौरे का हश्र भी उड़ीसा जैसा ही होगा

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विपक्षी नेताओं को गोलबंद करने आज उड़ीसा गए थे. वहां जाकर उन्होंने सीएम नवीन पटनायक से मुलाकात की. मुलाकात के बाद निकले तो नीतीश कुमार ने कहा कि कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई। मुख्यमंत्री के इस बयान के बाद चर्चा तेज हो गई कि उड़ीसा के सीएम ने मुख्य़मंत्री नीतीश कुमार के राजनीतिक एजेंडे का भाव ही नहीं दिया. बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने मुख्यमंत्री की उड़ीसा यात्रा को राजनीतिक रूप से निष्फल यात्रा करार दिया है. साथ ही उन्होंने सलाह दी है कि बिहार के मुख्यमंत्री को नवीन पटनायक के अपने राज्य के प्रति समर्पण से सबक लेना चाहिए।

निष्फल यात्रा से सीख लें CM नीतीश

विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि उड़ीसा के मुख्यमंत्री द्वारा यह कहना कि राजनीतिक मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई है, अपने आप में महत्वपूर्ण है। कम से कम अब तो मुख्यमंत्री जी को इस असफलता से सीख लेनी चाहिए।नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि नवीन पटनायक कांग्रेस विरोध की राजनीति कर उड़ीसा में अपनी पहचान बनाये हुए हैं।उन्होंने कभी भी कांग्रेस की अधीनता स्वीकार नहीं की। लेकिन अब नीतीश कुमार जिस मुहिम में लगें है उसमें कांग्रेस का नेतृत्व और मार्गदर्शन ही काम कर रहा है। ऐसे में नवीन पटनायक जैसे सिद्धान्तवादी व्यक्ति को इनका फार्मूला असहज लगा औऱ राजनीति पर बात करने से इनकार कर दिया।

महाराष्ट्र दौरे का हश्र भी उड़ीसा जैसा ही होगा

विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि मुख्यमंत्री के आगामी महाराष्ट दौरा का भी यही परिणाम होने वाला है।शिव सेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस इनके छद्म आचरण औऱ सिद्धांतविहीन राजनीति से अवगत है। वे सशंकित हैं कि ये कभी भी पलट सकते हैं। राजनीतिक विश्वसनीयता गिर जाने के कारण ये उन्हें स्वीकार नहीं हो सकते . सिन्हा ने कहा कि विपक्षी एकता के नाम पर राज्य के बाहर इनका भ्रमण मात्र औपचारिकता रह गया है. इससे बिहार की क्षति हो रही है। नीतीश कुमार जी अभी तक न तो बिहार का विकास कर पाये हैं न ही अपने बल पर सरकार बना पाये हैं। बिहार तेज गति से बर्बादी के दल-दल में धंसते जा रहा है। राज्य में भ्रष्टाचार और प्रशासनिक अराजकता चरम पर है। अब इन्हें फुर्सत नहीं है कि राजकाज को संभालें. विजय कुमार सिन्हा ने कि नीतीश कुमार राज्य की जनता को बताएं कि कब किसी अन्य व्यक्ति को गद्दी सौंपेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News