सीएम के गृह जिले में सरकारी एम्बुलेंस में लगा रहता है ताला, परिजन होते हैं परेशान

सीएम के गृह जिले में सरकारी एम्बुलेंस में लगा रहता है ताला, परिजन होते हैं परेशान

नालंदा : आज तक आपने अपने वाहनों में सुरक्षा के लिहाज से ताला लगा देखा होगा मगर किसी सरकारी संस्थान के वाहन वो भी एम्बुलेंस जोकि मरीजों के लिए अतिआवश्यक है उसमें सिक्कड़ जड़ ताला लगा देना ये आपने आज तक न देखा होगा न ही सुना होगा।

सिस्टम की पोल खोलते तह तस्वीर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले चण्डी रेफरल अस्पताल का है.जहां चालक की मर्जी के बैगर स्वास्थ्य प्रबंधक और प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के आदेश पर एम्बुलेंस में इसलिए ताला जड़ दिया जाता है कि मरीजो को जरूरत पड़ने पर चालक रात में गाड़ी को कही न ले जा सके और मरीज के परिजन थक हार कर प्राइवेट एम्बुलेंस का सहारा लें.

जिससे आये दिन मरीजो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है. इस बाबत जब प्रभारी चिकित्सा प्रभारी से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने वयस्त होने की बात कह बाद में बात करने को कहा. उनका सफाई जो भी हो मगर इस तस्वीर ने बिहार सरकार के स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है. 

Find Us on Facebook

Trending News