पीएम मोदी और सीएम नीतीश पर कांग्रेस का बड़ा हमला, कहा-एक ने देश की अर्थव्यवस्था को किया चौपट, दूसरे खुद थपथपाते है अपनी पीठ

पीएम मोदी और सीएम नीतीश पर कांग्रेस का बड़ा हमला, कहा-एक ने देश की अर्थव्यवस्था को किया चौपट, दूसरे खुद थपथपाते है अपनी पीठ

Patna : कांग्रेस ने प्रधानंमत्री नरेनद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर एक साथ बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस ने कहा है कि केन्द्र की मोदी सरकार ने जहां देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है। वहीं बिहार के सीएम खुद अपनी पीठ थपथपाने में जुटे है। 

बिहार प्रदेश कांग्रेस के वर्चुअल रैली बिहार क्रांति महासम्मेलन में आज प्रदेश के सारण तथा वैशाली जिले के कार्यकर्त्ताओं तथा आम जनों के साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं ने दिल्ली और पटना स्थित मंच से वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने वर्चुअल संवाद स्थापित किया। 

आज दिल्ली मंच पर मुख्य वक्ता के तौर पर उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व पंजाब के महासचिव प्रभारी हरीश रावत और विधायक सह बिहार स्क्रीनिंग कमिटी के सदस्य काजी निजामुद्दीन, बिहार महिला कांग्रेस की अध्यक्ष विधायक अमिता भूषण, कार्यकारी अध्यक्ष डॉ अशोक राम, दीपक नेगी और प्रणव जी उपस्थित रहें।

बिहार क्रांति महासम्मेलन के वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री  हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को पहले ही चौपट कर दिया था और अब उन्हें कोरोना का बहाना मिल गया है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वैश्विक मंदी के बीच भी भारत की अर्थव्यवस्था को कमजोर नहीं होने दिया। 

उन्होंने कहा कि हमारी सेना चीन सहित तमाम शत्रु देशों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए काफी है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी घुसपैठ की कोशिशों को नकारा था, लेकिन आज मीडिया में घुसपैठ की खबरें आ रही हैं तो उनको स्पष्ट करना चाहिए कि उन्होंने देश को धोखे में रखा है। 

रावत ने कहा कि मजदूरों की हकमारी तो पहले ही केंद्र की निरंकुश सरकार ने कर रखी थी लेकिन अब कांग्रेस द्वारा लाये गए किसानों की हितैषी न्यूनतम समर्थन मूल्य को भी अध्यादेश लाकर खत्म करना चाहती है। उन्होंने बिहार के कांग्रेसजन और आम लोगों से आह्वान किया कि बिहार से परिवर्तन करके एक सन्देश देने का काम करें।

वहीं विधायक सह बिहार स्क्रीनिंग कमिटी के सदस्य काजी निजामुद्दीन ने कहा कि लोकतंत्र का अपहरण करने वाले नीतीश कुमार भी प्रधानमंत्री की तरह झूठी घोषणाएं करने में माहिर हो चुके हैं। हर कदम पर दोनों नेता बिहार के लोगों को छलने का काम किया है। राजग लोगों को बांटकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकती है। कोरोना काल में बिहार के लोगों के साथ सबसे ज्यादा ज्यादती देखने को मिली और बिहार सरकार मौन साधे रही। उन्होंने आह्वान किया कि जो किसानों, युवाओं, उद्योग और रोजगार की बात करें वैसे लोगों को चुनने का काम करें।

वहीं  बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने वर्चुअल सम्मेलन में लगातार तीन घंटे झूठ बोलने का काम किया। नीतीश कुमार जब बिहार में शराबबंदी पर अपनी उपलब्धि गिना रहें थे तब उनके भाषण स्थल से कुछ ही दूरी पर शराब माफियाओं द्वारा बिहार पुलिस के जवानों को पीटा जा रहा था। 2 करोड़ नौकरी देने का वादा करके नौकरी छिनने वाले ये लोग खुद अपनी पीठ थपथपाने का काम करते हैं । 

बिहार क्रांति महासम्मेलन   वर्चुअल रैली में सारण तथा वैशाली के कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत पूरी जिला कमेटी जुड़ी हुई थी। सारण तथा वैशाली जिला कांग्रेस के नेताओं के द्वारा वर्चुअल मीटिंग के दौरान वरिष्ठ नेताओं के समक्ष जिले की प्रमुख समस्याओं को रखा गया। इस महासम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा, कार्यकारी अध्यक्ष द्वय विधान पार्षद समीर कुमार सिंह व श्याम सुंदर सिंह धीरज, संगठन महासचिव ब्रजेश पांडे, मांझी के विधायक विजय शंकर दुबे, पूर्व मंत्री रविंद्र नाथ मिश्रा,प्रवक्ता राजेश राठौड़, इंटक अध्यक्ष चंद्र प्रकाश सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री उषा सिन्हा, अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष मिन्नत रहमानी समेत कई अन्य कांग्रेस नेता मंच से जुड़े रहें।



Find Us on Facebook

Trending News