कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता ने की शराबबंदी के समीक्षा की मांग, कहा शराब के राजस्व से खोले फैक्ट्री

कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता ने की शराबबंदी के समीक्षा की मांग, कहा शराब के राजस्व से खोले फैक्ट्री

BHAGALPUR : बिहार के नालंदा में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत पर कॉंग्रेस विधानमंडल दल के नेता और भागलपुर विधायक अजीत शर्मा ने दु:ख व्यक्त किया है। साथ ही उन्होंने बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल के उस बयान का समर्थन किया है। जिसमें उन्होंने शराबबंदी कानून की समीक्षा की बात कही है। अजीत शर्मा ने कहा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा में संदिग्ध मौतें हुई है। वहाँ के लोग इसे जहरीली शराब पीने से मौतें बता रहे हैं। 

उन्होंने कहा की जहरीली शराब होगी, शराबबंदी कहीं लागू नहीं है। राज्य सरकार के बड़े पदाधिकारी भी इसमे संलिप्त हैं। जब अधिकारीयों का शराब माफियाओं से सांठगाँठ रहेगा तो शराबबंदी कहाँ से संभव होगा।  नालन्दा में ऐसा घटना हुआ है। इसका मतलब है की नीतीश कुमार को उनके प्रशासन ने आईना दिखाने का काम किया है की शराबबंदी लागू नहीं है। जो भी अधिकारी इसमें लिप्त हैं,उनपर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।  वहीं अजीत शर्मा ने एक बार फिर शराबबन्दी कानून खत्म कर  दोगुनी कीमत पर शराब बेचने व कल कारखाने लगाकर युवकों को रोजगार देने की मांग की है। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समाज सुधार अभियान को लेकर अजीत शर्मा ने कहा की इसमें उन्होंने शराब, दहेज़ और बाल विवाह रोकने की बात कहीं हैं। लेकिन कहीं भी शिक्षा का जिक्र नहीं किया है। उन्होंने कहा की बिना शिक्षा के समाज में सुधार की बात नहीं की जा सकती है।  

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News