मांझी का महागठबंधन से जाना दुर्भाग्यपूर्ण,कांग्रेस सांसद अखिलेश बोले-सहयोगी दल के नेताओं से करेंगे बात

मांझी का महागठबंधन से जाना दुर्भाग्यपूर्ण,कांग्रेस सांसद अखिलेश बोले-सहयोगी दल के नेताओं से करेंगे बात

PATNA: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने अपने आप को महागठबंधन से अलग करने का ऐलान किया है. हालांकि वे किस दल में जाएंगे इसको लेकर सस्पेंस बरकरार है, लेकिन अधिक संभावना है कि वे जेडीयू में शामिल हो सकते हैं. महागठबंधन में भाव नहीं मिलने से परेशान मांझी अब अलग रास्ता अख्तियार कर लिया अब सहयोगी पार्टी कांग्रेस जीतन राम मांझी को महागठबंधन छोड़ने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा है कि जीतन राम मांझी का महागठबंधन से अलग होना दुर्भाग्यपूर्ण है. इस बारे में गठबंधन के सदस्यों से चर्चा होगी ताकि वे महागठबंधन से जुड़े रहे.

वैसे जितना मांझी महागठबंधन में कोऑर्डिनेशन कमिटी नहीं बनने पर कई बार गठबंधन छोड़ने की धमकी दे चुके थे. लेकिन इस बार अब वे आरपार के मूड में हैं. गुरुवार को ही पटना में कोर कमेटी की बैठक में यह निर्णय हुआ कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा अब महागठबंधन का हिस्सा नहीं रहेगी.

 हालांकि जीतन राम मांझी किधर जाएंगे अब भी खुलकर नहीं बोल नही बोल रहे। अब कांग्रेस का मांझी प्रेम सामने आया है और पार्टी के राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह ने मांझी को मनाने की पहल की है.

गौरतलब है कि एजक तरफ मांझी ने महागठबंधन को बड़ा झटका दे दिया है वहीं एनडीए में चिराग पासवान के तेवर नीतीश कुमार की बेचैनी बढ़ा रहा है. ऐसे में मांझी के महागठबंधन से अलग होने के बाद जहां आरजेडी ये कह रही है कि उनके जाने से कोई फर्क नहीं पढनें वाल वहीं अब मांझी के सपोर्ट में खुल के कांग्रेस आ गई है. 


Find Us on Facebook

Trending News