कांग्रेस पार्टी ने की चरणबद्ध आन्दोलन की शुरुआत, बिहार केसरी श्रीकृष्ण सिंह को भारत रत्न देने की मांग

कांग्रेस पार्टी ने की चरणबद्ध आन्दोलन की शुरुआत, बिहार केसरी श्रीकृष्ण सिंह को भारत रत्न देने की मांग

GAYA : बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ श्री कृष्ण सिंह की जयंती के अवसर पर उनकी कर्मभूमि मगध प्रमंडल मुख्यालय गया के राय काशी नाथ गोलंबर पर उनकी प्रतिमा लगाने और उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करने की मांग सरकार से की गयी।

इस अवसर पर उपस्थित अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो. विजय कुमार मिठू, पूर्व विधायक मो खान अली, जिला उपाध्यक्ष राम प्रमोद सिंह, जिला महासचिव विद्या शर्मा, शशिकांत सिन्हा,अमरजीत कुमार, टिंकू गिरी, ओंकार नाथ सिंह, अशरफ इमाम, प्रो अनिल कुमार सिन्हा, प्रो विशवनाथ कुमार, डॉ मदन कुमार सिन्हा, श्रीकांत शर्मा, राम प्रमोद सिंह, सकलदेव चंद्रवंशी, दामोदर गोस्वामी, विनोद उपाध्याय, राजेश्वर पासवान, सुरेन्द्र मांझी, अरुण कुमार पासवान आदि ने कहा कि आधुनिक बिहार के निर्माता, सामाजिक न्याय के मसीहा, कुशल प्रशासक, अविभाजित बिहार के जनप्रिय, लोकप्रिय नेता डॉ श्री कृष्ण सिंह को भारत रत्न देने से बिहार के सम्मान में चार चांद लगेगा।

नेताओं ने कहा कि डॉ श्रीकृष्ण सिंह की जन्म स्थली उनके ननिहाल अविभाजित गया जिला जो अब नवादा जिले का खनवा ग्राम था। साथ ही साथ इनकी कर्मभूमि मध्य, दक्षिण बिहार तथा डॉ श्री कृष्ण सिंह एवं डॉ अनुग्रह नारायण सिंह यानी एक बिहार केशरी तो दूसरे बिहार विभूति के नाम से सम्पूर्ण देश में विख्यात है। लेकिन वर्षो से सरकार, स्थानीय प्रशासन एवं गया नगर निगम द्वारा घोषित गया के राय काशी नाथ गोलंबर पर इनकी प्रतिमा लगाने की बात ठंडे बस्ते में पड़ा हुआ है, जिसे अमलीजामा पहनाने की नितांत आवश्यकता है।

नेताओं ने भारत सरकार से डॉ श्री कृष्ण सिंह को भारत रत्न देने, बिहार सरकार एवं स्थानीय प्रशासन से गया में इनकी प्रतिमा लगाने की मांग को लेकर चरणबद्ध आंदोलन का शंखनाद आज उनकी जयंती पर शुरू किया, जो उनकी पुण्यतिथि यानी 31 जनवरी 2022 तक पूरे तीन माह तक जारी रहेगा।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News