राजद के साथ दो-दो हाथ करने को तैयार कांग्रेस, बिहार के इस दिग्गज नेता को तारापुर से उतारने की तैयारी, मैदान में उतरे तो जीत पक्की

राजद के साथ दो-दो हाथ करने को तैयार कांग्रेस, बिहार के इस दिग्गज नेता को तारापुर से उतारने की तैयारी, मैदान में उतरे तो जीत पक्की

PATNA : बिहार में होनेवाले दो सीटों पर उप चुनाव कांग्रेस और राजद के प्रतिष्ठा का विषय बन चुका है. जिसमें दोनों में से कोई पीछे हटने को तैयार नजर नहीं आ रहा है। इस बीच कांग्रेस की तरफ से अब कुशेश्वरस्थान के साथ तारापुर विधानसभा से अपने उम्मीदवार उतारने की तैयारी की जा रही है। जिसके लिए पार्टी की तरफ से मंगलवार को पांच माह बाद जेल से रिहा हुए जाप सुप्रीमो पप्पू यादव को अपना उम्मीदवार बनाने की तैयारी की जा रही है। हालांकि पप्पू यादव को उम्मीदवार बनाने को लेकर कांग्रेस ने कुछ शर्तें भी रखी हैं। 

पंजा छाप पर लड़ना होगा चुनाव

पप्पू यादव के नाम को लेकर कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि वह जेल से रिहा हो गए हैं। बिहार में लालू यादव के बाद वे यादवों के दूसरे सबसे बड़े नेता है। कांग्रेस उनके संपर्क में है, लेकिन शर्त यही है कि पप्पू यादव कांग्रेस के सिंबल पर ही तारापुर से चुनाव लड़ें। अगर वे सहमति व्यक्त करते हैं तो पार्टी इस पर विचार करेगी।

वहीं, पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने कहा कि सम्मान एकतरफा नहीं होता, दोनों ओर से होना चाहिए। हमारी पार्टी और राहुल गांधी का फोकस हर प्रदेश में सम्मान ही नहीं, बल्कि उन लोगों को कांग्रेस से जोड़ना है जो कांग्रेस को चाहते हैं। लेकिन गठबंधन के कारण हम लोग काफी पीछे हो जाते हैं। इसलिए कांग्रेस से प्यार करने वाले लोग हमारे साथ आगे नहीं बढ़ पाते हैं। कांग्रेस विकास के रास्ते पर कैसे प्रदेश को आगे लेकर जा सकती है, उस पर विचार हो रहा है।

बहरहाल आगे क्या होगा, यह तो पप्पू यादव के निर्णय पर निर्भर करता है। लेकिन कांग्रेस ने पप्पू को यह ऑफर देकर राजद को जरूर घेरने की कोशिश की है। हाल के दिनों में पप्पू यादव की लोकप्रियता जिस प्रकार बढ़ी है, अगर वह चुनाव में उतरते हैं, तो न सिर्फ राजद, बल्कि जदयू के लिए भी परेशानी बन सकते हैं। 


Find Us on Facebook

Trending News