ठेकेदार गब्बू सिंह ने बिहार के एक बड़े नेता को एक ही दिन में दिए पांच करोड़ कैश, छापेमारी में हो रहे हैं बड़े-बड़े खुलासे

ठेकेदार गब्बू सिंह ने बिहार के एक बड़े नेता को एक ही दिन में दिए पांच करोड़ कैश, छापेमारी में हो रहे हैं बड़े-बड़े खुलासे

PATNA : JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के करीबी बताए जा रहे ठेकेदार गब्बू सिंह और उनसे जुड़े लोगों के ठिकानों पर पिछले चार दिन से इनकम टैक्स की छापेमारी की जा रही है। यह छापेमारी मंगलवार को भी जारी रही। इस दौरान  आयकर की छापेमारी में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। आयकर की जांच में यह बात सामने आई है कि गब्बू सिंह ने नेताओं और कुछ ब्यूरोक्रेट्स के साथ करोड़ों का ट्रांजेक्शन किया है। आयकर की टीम को इसके अहम सुराग मिले हैं।

सूत्रों के अनुसार छापेमारी के दौरान आयकर की टीम को पता चला कि गब्बू सिंह ने एक ही दिन में एक बड़े नेता को 5 करोड़ रुपए दिए हैं। यह लेन-देन बड़े नेता के पीए के जरिए कैश में किया गया। आयकर की टीम को इसके पुख्ता सुराग हाथ लगे हैं। हालांकि वह बड़ा नेता कौन है, इसके खुलासा आयकर विभाग ने नहीं  किया है। इसके अलावा कुछ ब्यूरोक्रेट्स और नेताओं के साथ भी लेन-देन के सुराग मिले हैं।  सूत्रों के अनुसार गब्बू सिंह के ठिकानों से 70-80 करोड़ की वित्तीय अनियमितता के सुराग मिले हैं।

छापेमारी में व्यस्त थी टीम तभी वहां से भाग गए ठेकेदार अरुण कुमार

प्राथमिकी के अनुसार आयकर की टीम छापेमारी में व्यस्त थी इसी दौरान मंगलवार दोपहर 1 बजे अरुण वहां से भाग निकले। आयकर की टीम को संदेह है कि अरुण अपने साथ कैश ट्रांजेक्शन से संबंधित दस्तावेज लेकर भाग गए हैं। टीम काफी देर तक उनका इंतजार करती रही लेकिन वे नहीं लौटे। वहीं गब्बू सिंह से जुड़े प्रेम आयरन शॉप के मालिक के ठिकाने से करीब 75 लाख कैश बरामद किए गए हैं।


ठेकेदार ने छापे से पहले बाहर भेजा कैश, आयकर ने दर्ज कराया केस

आयकर विभाग ने गब्बू सिंह कनेक्शन में ठेकेदार अरुण कुमार के खिलाफ मंगलवार को एस.के.पुरी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। असिस्टेंट कमिश्नर अंजलि की ओर से दर्ज प्राथमिकी में आरोप है कि पश्चिम बोरिंग कैनाल रोड स्थित ठेकेदार के नीलगिरी भवन के फ्लैट नंबर 205 और 406 में मंगलवार को छापेमारी करने टीम गई थी। आयकर को सूचना मिली थी कि अरुण के घर में 58 लाख कैश हैं। छापे में यह नहीं मिला। बाद में जांच के दौरान सीसीटीवी से पता चला कि छापे से पहले ही अरुण ने कैश बाहर भेज दिया था।

मोबाइल फोन से खुलेंगे कई बड़े राज

आयकर ने गब्बू सिंह और उनसे जुड़े लोगों के मोबाइल फोन को जब्त कर लिया है जिसकी फॉरेंसिक जांच भी की जाएगी। इसमें कई बड़े खुलासे होने की संभावना है। आयकर विभाग यह भी पता लगाएगा कि गब्बू सिंह किन-किन लोगों के संपर्क में रहे हैं। आयकर विभाग की टीम गब्बू सिंह और उनके सहयोगियों के ठिकानों से जब्त मोबाइल फोन की एनॉलिसीस करेगी। सूत्रों के अनुसार गब्बू सिंह के कई नेताओं और ब्यूरोक्रेट्स के साथ संबंधों और लेन-देन को लेकर पड़ताल के सुराग मिले हैं।


Find Us on Facebook

Trending News