कोरोना से कुंवारे लोगों में मौत का खतरा ज्यादा, इस शोध ने बढ़ाई चिंता

कोरोना से कुंवारे लोगों में मौत का खतरा ज्यादा, इस शोध ने बढ़ाई चिंता

Desk: हेल्दी लाइफ के लिए शादीशुदा जीवन अब जरूरी हो गया है. महामारी के इस संकट काल में यह तर्क सच साबित होने लगा है. एक नई स्टडी के मुताबिक कोरोना से कुंवारे लोगों में मौत का खतरा शादीशुदा लोगों की तुलना में ज्यादा होता है. स्वीडन की यूनिवर्सिटी ऑफ स्टॉकहोम के शोधकर्ताओं ने इसे लेकर चेतावनी भी दी है.

स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कुंवारे लोगों के अलावा लो इनकम, कम पढ़े-लिखे और कम या मध्यम आय वाले देशों में कोरोना वायरस से मौत की संभावनाएं ज्यादा हैं. ये स्टडी 'स्वीडिश नेशनल बोर्ड ऑफ हेल्थ एंड वेलफेयर' द्वारा स्वीडन में कोविड-19 से हुई रजिस्टर्ड मौतों के डेटा पर आधारित है. इस स्टडी में 20 वर्ष या उससे ज्यादा उम्र के लोगों को ही शामिल किया गया है. जनरल नेचर कम्युनिकेशंस में प्रकाशित इस स्टडी के लेखक स्वेन ड्रेफ्हाल कहते हैं, 'कोविड-19 से हुई मौतों के साथ कई बड़े फैक्टर्स मजबूती के साथ जुड़े हुए हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, अविवाहित यानी कुंवारे पुरुषों या महिलाओं में कोविड-19 से मौत का खतरा विवाहित लोगों की तुलना में डेढ़ से दो गुना ज्यादा होता है. इस लिस्ट में अनमैरिड, विधवा/विधुर और तलाकशुदा लोग भी शामिल हैं. रिपोर्ट में एक और बड़ा दावा ये भी हुआ है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों में कोविड-19 से मौत का खतरा दोगुने से भी ज्यादा है. इससे पहले हुई कुछ स्टडी में भी बताया गया था कि सिंगल या अनमैरिड लोगों की विभिन्न बीमारियों से ज्यादा मौतें होती हैं. इसके कुछ पहलुओं को उदाहरण देकर भी समझाया गया है.



Find Us on Facebook

Trending News