कोरोना पीड़ित को नहीं मिली एंबुलेंस, 3 किमी पैदल चलकर पहुंचा अस्पताल

कोरोना पीड़ित को नहीं मिली एंबुलेंस, 3 किमी पैदल चलकर पहुंचा अस्पताल

Desk: मुंबई में कोरोना के बढ़ते कहर के बीच सिस्टम की संवेदनहीनता और लचर रवैये की खुल्लखुल्ला तस्वीर सामने आई है. कोरोना पॉजिटिव पाए गए एक शख्स को बार-बार मदद मांगने पर एंबुलेंस नहीं मिली. आखिरकार उसे 3 किलोमीटर पैदल चलकर अस्पताल जाना पड़ा.

रास्ते में दोस्तों ने सुरक्षा घेरा बनाकर उसे अस्पताल तक पहुंचाया गया ताकि कोई अनजान शख्स उसके नजदीक आकर संक्रमित न हो जाए. दरअसल, मुंबई के वाडिया हॉस्पिटल में काम करने वाले एक वार्ड बॉय को कोरोना की पुष्टि हुई. उसने कल्याण डोम्बिवली नगर निगम से एंबुलेंस भेजने को कहा.

कोरोना संक्रमित वार्ड बॉय 16 घंटे तक एंबुलेंस का इंतजार करता रहा. इसके बाद वह पैदल ही नगर निगम के कोविड अस्पताल की ओर निकल पड़ा, जो उसके घर से तीन किलोमीटर दूर डोम्बिवली में है. इस दौरान उसने चार दोस्तों को बुलाया, जिन्होंने एक घेरा बनाया, ताकि कोई भी संक्रमित वार्ड बॉय के संपर्क में न आ जाए.

कोविद अस्पताल पहुंचने पर वार्ड बॉय को एसिम्पटोमेटिक पाया गया, इसलिए उसे दूसरी मेडिकल सुविधा के लिए भेजा गया और उस सुविधा तक पहुंचने के लिए एम्बुलेंस की जरूरत थी, जिसके लिए वार्ड बॉय को तीन घंटे का और इंतजार करना पड़ा. गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना बेकाबू हो चुका है. पिछले 24 घंटे में 2345 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद यहां पर मरीजों की संख्या 41 हजार 642 हो गई है. राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 64 लोगों की मौत हुई है. वहीं, अब तक कुल 1454 लोगों की जान इस महामारी के कारण जा चुकी है.

Find Us on Facebook

Trending News