बिहार के नेताओं पर टूटा कोरोना का कहर, राज्य में दोगुने रफ्तार से बढ़ रहा संक्रमण

बिहार के नेताओं पर टूटा कोरोना का कहर, राज्य में दोगुने रफ्तार से बढ़ रहा संक्रमण

पटना. बिहार में कोरोना के मामलों में पिछले 24 घंटों के दौरान दोगुने रफ्तार से संक्रमण बढ़ा है. राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1659 हो गई है. बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जहाँ राज्य सरकार ने नाईट कर्फ्यू सहित कई प्रकार के प्रतिबंधों की घोषणा की है वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समाज सुधार अभियान तो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रस्तावित बेरोजगार यात्रा स्थगित करने का निर्णय लिया. 

कोरोना के शिकार लोगों में बिहार के कई शीर्ष नेता भी आए हैं. एक तरह से बिहार के नेताओं पर कोरोना का कहर टूटा है. पहले पूर्व सीएम जीतन राम मांझी और उनके परिवार के 18 लोग संक्रमित हुए तो उसके बाद जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी पॉजिटिव हो गए. वहीं बुधवार को नीतीश कुमार की अध्यक्षता में होने वाली बिहार कैबिनेट की बैठक के पूर्व राज्य एक दोनों उप मुख्यमंत्री रेणु देवी और तारकिशोर प्रसाद सहित चार मंत्रियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने से हाहाकार मच गया. वहीं दोपहर में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई. अश्विनी चौबे ने ट्वीट कर जानकारी दी. एक के बाद एक कई नेताओं के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर ने राजनीतिक गलियारों में चिंता बढ़ा दी है. नेताओं का अक्सर आम लोगों से मिलना जुलना लगा रहता है और ऐसे में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने से कई अन्य लोगों के संक्रमण का खतरा बढ़ा है. 

वहीं पटना साहिब में दशमेश गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का 355 वा प्रकाश पर्व भी कोरोना के कारण सांकेतिक रूप में मनाने का निर्णय लिया गया। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष अवतार सिंह के अनुसार प्रकाश पर्व पर पटना साहिब आ चुके लगभग दस हजार श्रद्धालुओं से दरबार साहिब में मत्था टेक कर लौट जाने की अपील की गई है. वहीं कंगन घाट, बाल लीला गुरुद्वारा समेत अन्य जगहों पर शुरू किए जाने वाले लंगर को स्थगित कर दिया गया है.


Find Us on Facebook

Trending News