कृषि विधेयक के खिलाफ माकपा का प्रदर्शन, 25 सितंबर को भारत बंद में लोगों से सहयोग का किया आह्वान

कृषि विधेयक के खिलाफ माकपा का प्रदर्शन, 25 सितंबर को भारत बंद में लोगों से सहयोग का किया आह्वान

GAYA : केन्द्र सरकार द्वारा भले की कृषि विधयेक को लोकसभा और राज्यसभा से पास करा लिया गया है, लेकिन इसका विरोध लगातार जारी है। विपक्ष द्वारा इस विधयेक के विरोध में लगातार बयानबाजी और विरोध प्रदर्शन जारी है। 

इसी कड़ी में आज जिले के वजीरगंज प्रखंड के केनार फतेहपुर पंचायत के बलीयारी एवं भँगौसा गाँव में वजीरगंज प्रखंड के माकपा एवं भाकपा नेताओं ने भारत सरकार द्वारा  पारित कृषि बिल के खिलाफ रैली एवं प्रदर्शन किया गया। इस रैली का नेतृत्व माकपा नेता शंभू शरण शर्मा ने किया।

इस मौके पर माकपा के जिला सचिव रामखेलावन दास ने बताया क़ि कृषि बिल के खिलाफ आगामी 25 सितंबर को वामपंथी पार्टियो द्वारा पूरे भारत बंद क़ा आह्वान किया गया है। उन्होने बताया क़ि किसान विरोधी सरकार के गलत नीतियो के कारण आज किसानों के सामने आर्थिक तंगी एवं भुखमरी व्याप्त है। अपने उपजाये हुए फसल क़ो बिचौलिये के आगे औने पौने दाम पर बेचने क़ो विवश है। 

नये कृषि विधेयक बिल की प्रक्रिया से किसान के सामने नया संकट उत्पन्न होगा। किसानों को सरकार द्वारा दिया जाने वाला समर्थन मूल्य समाप्त हो जाएगा। अब खेती पर चंद उद्योगपतियों का कब्जा हो जायेगा। उन्होने कहा क़ि किसानों से सीधे नगद मूल्य देकर अनाज की खरीदी किया जाना चाहिए ताकि गरीब किसानों को समय पर उसका लाभ मिल सके। उन्होने कहा कि सरकार यह काला विधयेक को वापस लेना ही होगा।

इस मौके पर देवकी प्रसाद, उपेंद्र सिंह, बबन सिंह, रामचन्द्र मांझी सहित सैकड़ों की संख्या में वामपंथी दल के सदस्य किसान मजदूर मौजूद थे। 

गया से मनोज कुमार सिंह की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News