झारखंड में बैठे सरगना के इशारे पर लोगों को फंसाता था साइबर ठग, खुलासा कर पटना पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार

झारखंड में बैठे सरगना के इशारे पर लोगों को फंसाता था साइबर ठग, खुलासा कर पटना पुलिस ने दो को किया गिरफ्तार

पटना. पत्रकारनगर थाना पुलिस ने दो साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। एक जहानाबाद जिले का रहने वाल है, जबकि एक नालंदा का रहने वाला है। पुलिस पुछताछ के क्रम में आरोपियों ने अपना नाम प्रशान्त कुमार (जहानाबाद) और संतोष कुमार (नालंदा) बताया है। साथ ही पुलिस ने इसके कब्जे से 20 हजार नगद, विभिन्न बैंकों के कुल आठ डेविट और एटीएम कार्ड, विभिन्न बैंकों के कुल 17 जमापर्ची और एटीएम निकासी रसीद, ठगी के काम में उपयोग में लाए जाने वाले दो मोबाइल फोन और एक पिट्ठू बैग को बरामद किया गया है। साथ ही BR-01-FT-1898 नम्बर की काला रंग की अपाची बैक भी बरामद की गयी।

पुछताछ के क्रम में दोनों साइबर ठगों ने बताया कि हमलोग साइबर ठगी के द्वारा दूसरों के खाते से पैसा निकालने वाला पेशेवर गिरोह के सदस्य हैं। हमारे गिरोह का सरगना मनीष कुमार है, जो रांची (झारखण्ड) का रहने वाला है। मनीष इस गिरोह के करीब 20 लोगों को गाइड करता रहता है। गिरोह के सदस्य पटना के अलावा अन्य कई शहरों में रह कर मनीष कुमार के इशारे पर ठगी का काम करते हैं।

आरोपियों ने कबूला कि हमारा सरगना मोबाईल फोन और लैपटॉप के द्वारा आम आदमी को कॉल कर एवं मैसेज मेल और व्हाट्सप पर भेजकर विभिन्न तरीके से झांसे में डालकर उन्हें पैसा कमाने, ईनाम पाने, नौकरी पाने, कम्पनी का डिस्ट्रीब्युटरशीप प्राप्त करने, ATM बन्द हो, KYC करने, सर्वे करने, लॉटरी मिलने, लक्की विजेता होने आदि का प्रलोभन देकर उनके खाता से उनका पैसा हमलोगों के द्वारा फर्जी तरीके से खुलवाए गए खाते या गरीब लोगों को पैसे का प्रालोभन देकर उनके पहचान पत्र पर खुलावाए गए खाते में ट्रान्सफर करवा लेते हैं, इसके बाद वह मुझे फोन या संदेश के द्वारा बताता है कि अमुक खाता में इतना पैसा गया है उसे तुरन्त डेविट कार्ड से निकाल लो। हमलोग 10 मीनट के अंदर पैसा निकाल कर सरगना के खाता में CDM और जमा पर्ची के द्वारा जमा कर देते हैं। जमा करने के पहले उनके आदेश पर हमलोग अपने हिस्से का रकम रख लेते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News