बिहार चुनाव का बदलता मिजाज़ दल से टिकट नहीं तो टिके नहीं, किसी ने ‘दल’ बदल लिया तो किसी ने ‘दिल’

बिहार चुनाव का बदलता मिजाज़ दल से टिकट नहीं तो टिके नहीं, किसी ने ‘दल’ बदल लिया तो किसी ने ‘दिल’

त्रिवेणीगंज : सुपौल बिहार में अभी तीन चरणों के चुनाव का पर्चा दाखिल का काम पूरा हुआ है। इसी में नेताओं के रंग बदलने का और अपने दल को आंख दिखाने की बात सामने आ गई है। एक ऐसा मामला त्रिवेणीगंज विधानसभा में देखनो को मिला, 

कई भाजपा और जदयू के तो, कई राजद के नेताओं ने अपना दल छोड़ लोजपा का दामन थाम लिया है। कौन किस दल में गया, सही तरीके से पता लगाना भी मुश्किल है। इसी दोरान 44 विधानसभा से नरेन्द्र कुमार ॠषिदेव त्रिवेणीगंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत पिलुवाहा निवासी ॠषिदेव का नेता बनकर भाजपा कार्यकर्ता के रूप कई सालों भर काम करते आ रहे थे,

जब टिकट लेने की बाड़ी आई नरेन्द्र कुमार  ॠषिदेव को टिकट नही मिला आलम यह है  कि श्री ॠषिदेव  ने तो भाजपा का पंजा छोड़ राजद की लालटेन थाम ली और सदस्यता ग्रहण कर । त्रिवेणीगंज विधानसभा 44 से राजद का टिकट लेने की  निशान बनाया जब राजद में नरेन्द्र कुमार की टिकट लेने का निशाना नही चली । तब जाकर 44 विधानसभा से भाजपा की बागी बन निर्दलीय चुनाव के लिए नामांकन दाखिल कर  चुनाव आखाड़े आ गई।नामांकन करते समय नरेन्द्र ॠषिदेव  कुमार ने वर्तमान जेडीयू विधायक बीना भारती पर निशाना बनाया और कहा यहा के विधायक जनता के संपर्क नही रहा है, इसी लिए मैं चुनाव मैदान में आया हूँ, जब 23 अक्तूबर को नामांकन वापसी करने के बाड़ी आई। कुछ ही पल में अपना नामांकन पत्र वापस ले लिया।

जब मीडिया ने नरेन्द्र कुमार ॠषिदेव से नामांकन पत्र वापस लेने पर कुछ सवाल किया। उन्होंने भाजपा की तारीफ करते हुए कहा कि हमलोगों का आपस में मन भेद हो सकता है मत भेद नही 


Find Us on Facebook

Trending News