खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे...एक छटांक सोना बरामद नहीं हुआ तो थानेदार पर उतारा गुस्सा, SP-DSP और STF लगी है फिर भी हाथ खाली

खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे...एक छटांक सोना बरामद नहीं हुआ तो थानेदार पर उतारा गुस्सा, SP-DSP और STF लगी है फिर भी हाथ खाली

PATNA: बिहार पुलिस का हाल खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे वाली हो गई है। जिस सोने की बरामदगी को लेकर पिछले 22 दिनों से कई एसपी-डीएसपी जुटे हों लेकिन एक छटांक सोना बरामद करने में विफल हैं . इसके बाद गुस्सा अब स्थानीय थानेदार पर उतर रहा है। एक छटांक सोना बरामद करने में विफल रहने वाले दरभंगा एसएसपी ने नगर थानेदार को सस्पेंड कर दिया है। 

थानेदार पर ठीकरा फोड़कर अपने को बचाने में जुटे वरीय अधिकारी

अब बड़ा सवाल यही है कि सिर्फ थानेदार हीं क्यों....दिनदहाड़े फायरिंग करते हुए अपराधी करोड़ों के सोना लूट कर फरार हो जाते हों और पुलिस कहीं नहीं दिखी ऐसे में सवाल उठता है कि थानेदार पर ठीकरा फोड़कर वरीय अधिकारी अपने को सुरक्षित करना चाहते हैं। पूरी फौज झोंकने के 22 दिन बाद भी पुलिस के हाथ पूरी तरह से खाली है। पुलिस सिर्फ अंधेरे में तीर चला रही है और खुलासे के नजदीक पहुंचने का दावा कर रही है। 

बुधवार को दरभंगा एसएसपी ने बुधवार को अपने कार्यालय कक्ष में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए बताया की विकास झा ने सोना लूट कांड में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है।वहीं उन्होंने इस लूट कांड में शामिल सभी अपराधियों की पहचान  को स्वीकार किया है। पुलिस को विकास झा ने बताया हैं कि  लूट का सोना उसके दूसरे साथियों के पास है जिसका हिस्सा अभी तक उसे  नहीं मिला है 

वहीं वरीय पुलिस अधीक्षक ने आगे बताया कि लूटे गए सोने की बरामदगी के लिए दरभंगा पुलिस और एसटीएफ की टीम मिलकर लगातार छापेमारी कर रही है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक पिस्टल तथा हाजीपुर मुथूट फाइनेंस से लूटे गए 125 ग्राम सोने को बरामद किया गया है वहीं वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि विकास झा से पूछताछ के दौरान उसके बताए गए ठिकानों से दो अपराधी को गिरफ्तार किया गया है  इस सोना लूट कांड में सबसे कुख्यात अपराधी विकास झा ही है क्योंकि इससे पहले उसने हाजीपुर के एक फाइनेंस कंपनी को भी लूटा था।

थानेदार को किया सस्पेंड

दरभंगा एसएसपी ने नगर थाना प्रभारी अजीत कुमार को शहर में बढ़े आपराधिक घटनाओं को लेकर बुधवार को निलंबित कर दिया है। उन्होंने बताया कि थानेदार का सूचना तंत्र कमोजर है इसलिए लगातार आपराधिक घटनायें घट रही हैं।

Find Us on Facebook

Trending News