दस डिजिट का मोबाइल नंबर तो होता है पर दसों डिजिट अगर जीरो हों तो आप क्या कहेंग,बिहार में मौजूद है 000000000 वाला मोबाइल नंबर

दस डिजिट का मोबाइल नंबर तो होता है पर दसों डिजिट अगर जीरो हों तो आप क्या कहेंग,बिहार में मौजूद है  000000000 वाला मोबाइल नंबर

जमुई..खबर बिहार से आ रही है जहां  कोरोना की जांच रिपोर्ट के डेटा में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. सरकारी अस्पतालों में दी गई कोरोना की टेस्ट रिपोर्ट के डेटा में मरीजों का मोबाइल नंबर गलत दर्ज किया गया है. ये खुलासा जमुई के सरकारी अस्पताल में कोविड डेटा के एंट्री की जांच में हुआ है. डेटा में मोबाइल नंबर की जगह 10 जीरो लिख दिए गए. 

एक अख़बार की रिपोर्ट के मुताबिक , जमुई के बरहट प्राइमरी हेल्थ सेंटर में कोविड डेटा की एंट्री में 48 में से 28 लोगों के 'मोबाइल नंबर' दस जीरो (0000000000) के रूप में लिख दिए. इन लोगों ने इसी साल 16 जनवरी को कोरोना टेस्ट कराया था. 25 जनवरी को भी कोरोना टेस्ट के डेटा में 83 में से 46 लोगों के मोबाइल नंबर की जगह दस जीरो लिख दए गए. 

इसके अलावा जिले के एक और PHC जमुई सदर में 16 जनवरी को 150 लोगों के डेटा में से 73 के मोबाइल नंबर की जगह जीरो का इस्तेमाल किया गया. अब सवाल ये है के की आखिर जिम्मेदार कौन शेखपुरा और पटना के छह पीएचसी में कोविड टेस्ट के 885 एंट्री की जांच की है. इस दौरान खुलासा हुआ कि जिन लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, उनमें से अधिकतर मरीजों का मोबाइल नंबर गलत लिखा गया है. इन सरकारी अस्पतालों से ये डेटा जिला मुख्यालय पटना भेजा जाता है.

Find Us on Facebook

Trending News