बिहार के सभी 534 अंचलों में डाटा इंट्री ऑपरेटर की होगी नियुक्ति, बेल्ट्राॅन ने विभाग को सौंपी चयनित उम्मीदवारों की लिस्ट

बिहार के सभी 534 अंचलों में डाटा इंट्री ऑपरेटर की होगी नियुक्ति, बेल्ट्राॅन ने विभाग को सौंपी चयनित उम्मीदवारों की लिस्ट

PATNA :  बिहार के सभी 534 अंचलों में डाटा इंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति होगी। उनकी नियुक्ति इसी महीने की जाएगी। डाटा इंट्री ऑपरेटर का ऑनलाइन परीक्षा के जरिए चयन हो चुका है और बेल्ट्राॅन ने सभी अंचलों के लिए 534 डाटा इंट्री ऑपरेटर की लिस्ट राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को सौंप दी है। इनका पदस्थापन माॅडर्न रिकाॅर्ड रूम में किया जाएगा। इनको आधुनिक अभिलेखागार-सह-डाटा केन्द्र के बेहतर संचालन की जिम्मेदारी दी जा रही है। 

इनकी ज्वाइनिंग और पोस्टिंग के बारे में विभाग के अपर मुख्य सचिव के कार्यालय कक्ष में आज विस्तृत चर्चा हुई। बैठक में राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह के अलावे निदेशक, भू-अभिलेख जय सिंह, संयुक्त सचिव कंचन कपूर, एलआईएस सलाहकार अखिलेश कुमार झा समेत अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे। सभी 534 डाटा इंट्री ऑपरेटर को राजधानी पटना के ज्ञान भवन में आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में नियुक्ति पत्र, डोंगल और प्रशिक्षण सामग्री की किट दी जाएगी। कार्यशाला का आयोजन 20.09.2021 दिन सोमवार को किया गया है।

 इस कार्यशाला का उदघाटन राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के मंत्री रामसूरत कुमार करेंगे। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह, निदेशक भू अभिलेख और परिमाप जय सिंह समेत विभाग और निदेशालय के तमाम वरीय पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। कार्यशाला में वरीय अधिकारियों के संबोधन के अलावे, मोटीवेशनल स्पीच के साथ-साथ तकनीकी बिन्दुओं के बारे में संक्षेप में जानकारी दी जाएगी। सभी नवनियुक्त कर्मियों का डाटा साॅफ्टवेयर में फीड किया जाएगा और उनके बारे में सारी जानकारी ऑपरेटर उपलब्ध रहेगी। उनका स्थापना भी विभाग में ही रहेगा। यानि उनकी ट्रांसफर-पोस्टिंग भी विभाग से ही होगी। पोस्टिंग के बारे में स्पष्ट कर दिया गया कि किसी भी पुरुष कर्मी की नियुक्ति अपने प्रमंडल में नहीं होगी जबकि महिला कर्मी की नियुक्ति अपने गृह जिला के बाहर होगी। किन्तु 20 तारीख की कार्यशाला के बाद सभी कर्मियों को प्रशिक्षण हेतु अपने जिला में गृह अंचल के अलावे किसी अन्य अंचल में कुछ दिनों के लिए भेजा जाएगा। पदस्थापना के बाद सभी नवनियुक्त डाटा इंट्री ऑपरेटर को 6 दिवसीय प्रशिक्षण हेतु बुलाया जाएगा। प्रशिक्षण 60-60 कर्मियों के बैच में दिया जाएगा। 

यह प्रशिक्षण पटना के शास्त्रीनगर स्थित सर्वे प्रशिक्षण में दिया जाएगा। अपर मुख्य सचिव ने प्रशिक्षण कार्यक्रम का शिड्यूल बनाने का जिम्मा आई0 टी0 मैनेजर एवं सर्वे संस्थान की तकनीकी शाखा को दिया है। इन्हीं ऑपरेटर को आधुनिक अभिलेखागारों के संचालन की जिम्मेदारी दी जा रही है। इन्हें ही परिमार्जन और एल0पी0सी0 के निष्पादन की भी जिम्मेदारी दी जाएगी। ऐसा डाटा इंट्री ऑपरेटर अंचल अधिकारी की अनुमति के बाद कर पाएंगे। यह अनुमति ऑनलाइन ही दी जाएगी। इसके जरिए अंचल अधिकारी के कार्य बोझ को कम करने की कोषिष की जा रही है। इसके अलावे जाति, निवास और आय प्रमाण-पत्र निर्गत करने की जिम्मेदारी राजस्व अधिकारियों को देने का निर्णय लिया गया है। इसके पीछे भी अंचल अधिकारियों का कार्य भार कम करने का विचार है। प्रत्येक आधुनिक अभिलेखागार में 4 डाटा इंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति होनी है। पहले चरण में एक-एक डाटा इंट्री ऑपरेटर की नियुक्ति की जा रही है। जैसे-जैसे आधुनिक अभिलेखागार-सह-डाटा केन्द्र काम करने लगेंगे वैसे-वैसे कर्मियों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। फिलहाल 163 आधुनिक अभिलेखागार-सह-डाटा केन्द्र कार्य शुरू करने की स्थिति में हैं।  

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News