मंडल मसीहा व जनता दल के संस्थापक समाजवादी नेता का निधन समाजवाद के लिए अपूरणीय क्षति....छोटू सिंह

मंडल मसीहा व जनता दल के संस्थापक समाजवादी नेता का निधन समाजवाद के लिए अपूरणीय क्षति....छोटू सिंह

पटना. समाजवादी विचारधारा के नेता शरद यादव के निधन पर बिहार के कई नेताओं ने अपना शोक प्रकट किया है. जदयू के वरिष्ठ नेता और नागरिक परिषद के पूर्व सचिव अरविंद कुमार उर्फ़ छोटू सिंह ने शरद यादव के निधन पर अपनी शोक संवेदना प्रकट की. उन्होंने कहा कि मंडल मसीहा व जनता दल के संस्थापक समाजवादी नेता का निधन समाजवाद के लिए अपूरणीय क्षति है. देश में समाजवाद के सच्चे पुरोधा के रूप में शरद यादव ने अपनी विशिष्ट पहचान बनाई. 

उन्होंने सबको साथ लेकर चलने और समतामूलक समाज के निर्माण की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इसी का परिणाम रहा कि वे मध्य प्रदेश, उतर प्रदेश के बाद बिहार को अपनी राजनीतिक कर्मभूमि बनाकर यहां की राजनीति में गहरी छाप छोड़ी. जदयू की जड़ों को मजबूत करने में शरद ने बेहद अहम भूमिका निभाई जिसके परिणाम स्वरूप आज जदयू एक वटवृक्ष की भांति है. 

वहीं खाद आयोग के सदस्य नन्दकिशोर कुशवाहा ने शरद के निधन पर दुख प्रकट किया. उन्होंने कहा कि समाज के पिछड़ों और वंचित तबकों की बुलंद आवाज के रूप में शरद हमेशा याद किए जायेगे. बिहार के नहीं होने के बाद भी बिहार के लिए जो उन्होंने अहम भूमिका अदा की वह हमेशा स्मरणीय रहेगा. राजनीतिक रूप से सबको साथ लेकर चलने की महारत के कारण ही उन्हें बिहार की राजनीति में भीष्म पितामह कहा गया. 

जदयू के प्रदेश सचिव ॐ प्रकाश सेतु ने शरद यादव के निधन को बिहार सहित देश के लिए अपूरणीय छति बताया. उन्होंने कहा कि समाजवाद के सिद्धातों को आगे बढ़ाने में शरद ने जीवन पर्यंत अपनी भूमिका निभाई. उन्होंने लोहिया और जय प्रकाश नारायण के सपनों को साकार करने में अपना योगदान दिया. उनका जाना समाजवाद के सिद्धातों पर चलने वालों के लिए बड़ा झटका है. 


Find Us on Facebook

Trending News