बालू माफिया के सामने नतमस्तक हुआ पटना जिला प्रशासन,सोन के किनारे खुलेआम हो रहा अवैध बालू खनन

बालू माफिया  के सामने नतमस्तक हुआ पटना जिला प्रशासन,सोन के किनारे खुलेआम हो रहा अवैध बालू खनन

PATNA : पटना जिले में प्रशासन के दावे के विपरीत बालू काअवैध खननचरम पर है। पटना जिले के बिहटा और पालीगंज के सोन तटीय इलाकों में बालू माफियाओं के द्वारा अवैध खनन लगातार जारी है। तीस जून से तीन महीने के लिए बालू खनन बंद होने के पहले ही माफियाओं ने कई जगहों पर अवैध तरीके से बालू का भंडारण कर पहाड़ खड़ा कर दिया है।

इसके साथ ही बिहटा के बिंदौल बालू घाट पर तो प्रशासन के आदेश की धज्जियां उड़ाई जा रही है। तीन दिनों पहले ही दानापुर एस डी ओ ने पटना डीएम के अनुशंसा पर विवादित जमीन पर धारा 144 लगाई है। उसके वाबजूद बालू माफिया उसी रास्ते से बालू का परिवहन और भंडारण कर रहे हैं। 

दरसअल बिहटा के बिंदौल बालू घाट पर रास्ते के विवाद में एक दलित परिवार नेपाली राम की हत्या हो गयी उसके बाद जिला प्रशाशन ने गाँव मे दो पक्षो के बीच तनाव को देखते हुए विवादित रास्ते पर 144 लगा दी ।लेकिन बिना पुलिस के भय के दिन रात बालू लदी ट्रको का परिचालन कर रहे हैं। पटना की एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा है कि इस मामले की जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी।

इसके साथ ही पालीगंज के जीतन छपरा ,निसरपुरा,लहलादपुर बालू घाटों पर भी यही नज़ारा है। बिंदौल गाँव के ग्रामीण कहते है कि उनके गाँव मे तो बालू को लेकर तनाव इतना है लोग एक दूसरे से सीधे मुँह अब बात तक नहीं करते।बता दें कि बालू के वर्चस्व की लड़ाई में बिंदौल गाँव मे अब तक तीन हत्याएं हो चुकी है। यही नहीं दो तीन सालों में कई पुलिसकर्मियों पर भी गाज गिर चुकी है लेकिन अवैध बालू का खनन और भंडारण बदस्तूर जारी है।

जिला खनन पदाधिकारी ने कहा कि अवैध भंडारण वाले करनेवालों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अब तक जिले में कुल 72 लाइसेंस निर्गत किये जा चुके कुछ लंबित है उसके लिए जिला प्रसाशन की ओर से एक टीम भी गठित की गई है।

वही बिंदौल में धारा 144 लगानेके बाद भी हो रहे अवैध खनन पर पटना की  एसएसपी ने दानापुर एसडीपीओ को जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया है। गरिमा मलिक ने कहा कि नियम का उलंघन करनेवाले नही बक्शे जायेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News