भू-अभिलेख एवं परिमाप निदेशक ने किशनगंज और अररिया का किया दौरा, कई कर्मियों के खिलाफ की कार्रवाई

भू-अभिलेख एवं परिमाप निदेशक ने किशनगंज और अररिया का किया दौरा, कई कर्मियों के खिलाफ की कार्रवाई

PATNA : किशनगंज एवं अररिया जिलों में भूमि सर्वेक्षण की धीमी प्रगति का कारण जानने और काम को रफ्तार देने के लिए भू-अभिलेख एवं परिमाप निदेशक जय सिंह ने दिनांक 13  और 14 सितंबर को दोनों जिलों का दौरा किया। दौरे के बाद निदेशक, सर्वे ने कई कर्मियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की है। इनमें एक शिविर प्रभारी और चार विशेष सर्वेक्षण अमीन शामिल हैं। ये सभी कर्मी अररिया जिले के हैं। साथ ही किशनगंज से बड़े पैमाने पर विशेष सर्वेक्षण अमीन का स्थानांतरण दूसरे जिलों में करने का निर्देश दिया गया है। ऐसा बगल के कुछ जिलों में काम की रफ्तार बढ़ाने के मकसद से किया गया है। सर्वे निदेशक जय सिंह ने 13 सितंबर को अररिया जिले का दौरा किया। उन्होंने जिले के रानीगंज अंचल के शिविर- 1 - 2 में जाकर काम की प्रगति का जायजा लिया। शिविर संख्या- 1 में व्याप्त अव्यवस्था की वजह से वहां की प्रभारी शिल्पी प्रिया के एक माह की वेतन कटौती का आदेश दिया गया है। साथ ही इसी शिविर के अमीन विक्की कुमार को बगैर इजाजत के गैरहाजिर रहने की वजह से 2 माह के मानदेय कटौती का आदेश दिया गया है। 

रानीगंज के ही शिविर संख्या- 2 में 19 अगस्त, 21 से बगैर बताए गायब रहने की वजह से विशेष सर्वेक्षण अमीन संजीव गुप्ता को 2 माह के वेतन कटौती का आदेश दिया गया है। वहीं के एक और अमीन मणिकांत कुमार सिंह को 1200 प्रपत्रों की अपलोडिंग पेंडिंग रखने के कारण 1 माह का वेतन काटने का आदेश दिया गया है। इसी शिविर के एक और विशेष सर्वेक्षण अमीन धीरज कुमार को अमीन डायरी के विधिवत संधारण नहीं करने की वजह से एक माह के वेतन की कटौती का आदेश निदेशक जय सिंह द्वारा दिया गया है। भू-अभिलेख और परिमाप निदेशक जय सिंह मंगलवार दिनांक 14 सितंबर को किशनगंज जिले के ठाकुरगंज अंचल के शिविर संख्या- 1 और 5 के शिविर में गए। बाद में उन्होंने किशनगंज जिले के 45 अमीनों का स्थानांतरण दूसरे जिलों में करने का आदेश निर्गत किया। ऐसा सर्वे कर्मियों की कार्यक्षमता के बेहतर इस्तेमाल के लिए किया गया। निदेशक ने दोनों जिलों के जिला स्तरीय पदाधिकारियों को निदेष दिया कि वो सभी शिविरों का निरंतर गहन निरीक्षण और अनुश्रवण करें। 

दोनों जिलों में निदेशक, भू-अभिलेख द्वारा अंचल अधिकारियों, भूमि सुधार उप समाहर्ता, अपर समाहर्ता और सर्वेक्षण कर्मियों की बैठक ली गई। बैठक में जिला के सभी प्रमुख विभागों के नोडल पदाधिकारी भी शामिल हुए। बैठक में सरकारी भूमि के संरक्षण और अन्य अहम विषयों पर जरूरी निर्देश दिए गए। इन नोडल पदाधिकारियों से उनके विभाग से संबंधित सरकारी जमीन की सूची जल्द से जल्द से जिला सर्वेक्षण कार्यालय को सौंप देने का निर्देश दिया गया।  

निदेशक  भू-अभिलेख और परिमाप ने अररिया जिले के सदर अंचल के माॅडर्न रिकाॅर्ड रूम का भी निरीक्षण किया। माॅडर्न रिकाॅर्ड रूम-सह-आधुनिक अभिलेखागार के लिए उपस्करों की खरीद तो कर ली गई थी किन्तु उन्हें अधिष्ठापित नहीं किया गया था। निदेशक ने माॅडर्न रिकाॅर्ड रूम-सह-आधुनिक अभिलेखागार को जल्द कार्यकारी बनाने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए। पिछले हफ्ते साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कुछ जिलों के कमजोर प्रदर्शन पर चिंता जताते हुए अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह द्वारा वरीय अधिकारियों को उन जिलों में जाने का आदेश दिया गया था। इस क्रम में निदेशक, जय सिंह अररिया और किशनगंज एवं एलआईएस सलाहकार अखिलेश कुमार झा को अरवल और जहानाबाद जिलों के दौरे पर भेजा गया था। 

Find Us on Facebook

Trending News