नालंदा में डेंगू से बचाव के लिए जिला प्रशासन की पहल, डीएम ने तालाबों में की गंबूसिया मछली डालने की शुरुआत

नालंदा में डेंगू से बचाव के लिए जिला प्रशासन की पहल, डीएम ने तालाबों में की गंबूसिया मछली डालने की शुरुआत

NALANDA : जिले में इन दिनों डेंगू का कहर लगातार जारी है। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक नगरी राजगीर में अब तक 350 से अधिक डेंगू के मरीज मिल चुके हैं। जबकि 11 लोगों की इससे मौत हो चुकी है। हालांकि मौत की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। हालाँकि डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिलाधिकारी ने नगर निगम और नगर परिषद के अधिकारियों को जलजमाव वाले क्षेत्र में गंबूसिया मछली का जीरा डालने और साफ-सफाई व फॉगिग कराने का निर्देश दिया है। 


इसी कड़ी में जिलाधिकारी ने बिहारशरीफ धनेश्वरघाट तालाब में मछली का जीरा डालकर अभियान की शुरुआत की। इसके बाद उनका काफिला सीधा बिहारशरीफ सदर अस्पताल पहुंचा। जहां उन्होंने डेंगू वार्ड और उससे संबंधित जांच के बारे में डॉक्टरों से जानकारी ली। उन्होंने जांच रिपोर्ट देर से देने पर डॉक्टरों को फटकार भी लगाई। उन्होंने डॉक्टर को मरीजों को बेवजह परेशान नहीं करते हुए जल्द से जल्द रिपोर्ट देने की बात कही।  

इस मौके पर उन्होंने कहा की आज 50 हजार मछली का जीरा मंगाया गया है। जिससे तालाब व जलजमाव वाले क्षेत्रों में डाला जाएगा। इसके अलावे 1 लाख 25 हजार और जीरा मंगाया जाएगा। जिसके बाद उन्हें चिन्हित जगहों पर डाला जाएगा। इसके अलावे फागिंग के लिए नगर निगम को 9 और मशीन खरीदने का निर्देश दिया गया है। जिसके माध्यम से हर दिन 17 वार्डों में फागिंग कराया जाएगा। लोगों को जल्द से जल्द जांच रिपार्ट मिले। इसकी भी व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने एक और सीबीसी मशीन खरीदने का भी निर्देश दिया। ताकि अधिक से अधिक लोगों की जांच हो सके। इस मौके पर नगर आयुक्त तरनजोत सिंह, सिविल सर्जन डॉ. अविनाश कुमार सिंह, एसीएमओ डॉ विजय कुमार सिंह, डॉ अशोक कुमार , डॉ राम कुमार और सिटी मैनेजर राजीव रंजन व अन्य मौजूद थे।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News